scriptAccused of beating the complainants on the police | Accuse the police: यहां की पुलिस पर परिवादियों के साथ ही बर्बरता का आरोप | Patrika News

Accuse the police: यहां की पुलिस पर परिवादियों के साथ ही बर्बरता का आरोप

Accuse the police: जिला पुलिस-प्रशासन के पास पहुंंचा परिवार, गोगुन्दा थाना क्षेत्र में दो साल की बालिका की मौत का मामला

उदयपुर

Published: January 29, 2022 12:36:21 pm

Accuse the police: जिले के गोगुन्दा थाना क्षेत्र के पाटिया में बीस दिन पहले दो साल की बालिका के लापता होने और फिर उसका शव मिलने के मामले में गुत्थी नहीं सुलझी है। इधर, पुलिस की ओर से की जा रही जांच के बीच परिजनों से मारपीट का मामला सामने आया है। परिजनों ने शुक्रवार को उदयपुर पहुंचकर जिला पुलिस और प्रशासन को ज्ञापन देते हुए गोगुन्दा थाना पुलिस पर आरोप लगाया कि बालिका की मौत को लेकर पुलिसकर्मियों ने परिजनों से ही मारपीट की।
Accuse the police: यहां की पुलिस पर परिवादियों के साथ ही बर्बरता का आरोप
Accuse the police: यहां की पुलिस पर परिवादियों के साथ ही बर्बरता का आरोप
मृतक बालिका की मां, गोगुन्दा के पाटिया निवासी दुर्गाबाई पत्नी प्रतापलाल गमेती ने ज्ञापन देकर बताया कि बालिका की हत्या का जुर्म कबूल करने का दबाव बनाते हुए गोगुन्दा थाना पुलिस की ओर से मारपीट की जा रही है। बताया कि बालिका का शव मिलने के बाद 21 जनवरी को पुलिसकर्मी आए और प्रार्थिया के बड़े ससुर खेमराज गमेती को थाने ले गए। बालिका की हत्या का आरोप लगाते हुए खेमराज के साथ मारपीट की। दूसरे दिन रिश्तेदार काना गमेती और परथा गमेती को थाने बुलाया और दो दिन थाने में ही रखा। उन पर भी बालिका की हत्या कबूल करने का दबाव बनाया। प्रार्थिया के देवर 14 वर्षीय कमलेश को भी दो बार थाने ले जाकर पीटा। इसके बाद प्रार्थिया के पिता नारायणलाल गमेती को भी थाने में ले जाकर इतना पीटा कि वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे हैं। प्रार्थिया का भाई शंकर पिता की सुध लेने थाने गया तो उसके साथ भी मारपीट की। इसके बाद प्रार्थिया को भी थाने ले जाकर महिला कांस्टेबल के हाथों पिटाई करवाई, वहीं मृतका के पिता को भी थाने ले जाकर पीटा गया। इस तरह से बालिका की मौत के मामले में पूरे परिवार को बेरहमी से पीटने का आरोप लगाया गया है।
मामले की जांच
बालिका के लापता होने और फिर शव मिलने के मामले को गंभीरता से लेकर जांच करवा रहे हैं। बालिका के परिजनों की पिटाई जैसी बात संभव नहीं है। फिर भी परिजनों का आरोप है तो इसकी जांच हो जाएगी।
मनोज कुमार चौधरी, जिला पुलिस अधीक्षक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्ममां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेरपाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने अलापा कश्मीर राग कहा- शांति सुनिश्चित करने के लिए धारा 370 को करें बहाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.