धोखाधड़ी कर लोगों के पैसों पर करता था ऐश, अब हुआ ​​गिरफ्तार

धन दुगुना करने का लालच fraud case देकर संभाग के लोगों से धोखाधड़ी करने वाले मुख्य आरोपी को पुलिस udaipur police ने गिरफ्तार कर महंगी कार जब्त की। टीम ने पूछताछ के बाद आरोपियों accused की मध्यप्रदेश के अलग-अलग जिलों में खरीदी गई सम्पत्ति को सक्षम अधिकारी के कब्जे कर बेचान पर रोक लगवाई। परतापुर निवासी नरेन्द्र सिंह ने 5 जनवरी को लाइफ इंडिया डवलपर्स एंड कॉलोनाइजर्स लिमिटेड के कचनारिया निवासी गिरीराज पांडे, सुनील पांडे, सारंगपुर (मध्यप्रदेश) निवासी दीपक शर्मा, ग्रीन विहार डवलपर्स एंड कॉलोनाइजर्स के गुना निवासी यज्ञ शर्मा, अमानत अली के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसमें बताया कि आरोपियों ने पीपली चौक निवासी पायड़ा में कंपनी की ब्रांच खोली, जिसमें सारंगपुर निवासी राजेश शर्मा केशियर था।

By: Bhagwati Teli

Published: 07 Jul 2019, 12:51 PM IST

उदयपुर. धन दुगुना करने का लालच देकर संभाग के लोगों से धोखाधड़ी fraud with peoples करने वाले मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर महंगी कार जब्त की। टीम ने पूछताछ के बाद आरोपियों की मध्यप्रदेश के अलग-अलग जिलों में खरीदी गई सम्पत्ति को सक्षम अधिकारी के कब्जे कर बेचान पर रोक लगवाई। परतापुर निवासी नरेन्द्र सिंह ने 5 जनवरी को लाइफ इंडिया डवलपर्स एंड कॉलोनाइजर्स लिमिटेड के कचनारिया निवासी गिरीराज पांडे, सुनील पांडे, सारंगपुर (मध्यप्रदेश) निवासी दीपक शर्मा, ग्रीन विहार डवलपर्स एंड कॉलोनाइजर्स के गुना निवासी यज्ञ शर्मा, अमानत अली के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसमें बताया कि आरोपियों ने पीपली चौक निवासी पायड़ा में कंपनी की ब्रांच खोली, जिसमें सारंगपुर निवासी राजेश शर्मा केशियर था।

आरोपियों ने इस ब्रांच से उदयपुर, राजसमंद, बांसवाड़ा, डंूगरपुर, खेरवाड़ा आदि क्षेत्रों में अपने 4 हजार एजेन्टों के मार्फत वर्ष 2013 में कई लोगों से जमीनों में पैसा निवेष करने व एक साल में धन दुगुना करने का लालच देकर आरडी एफडी में पैसा निवेश करवाया। वर्ष 2017 में कंपनी से जुड़े लोग अचानक निवेशकों की राशि हड़पकर फरार हो गए। मामला दर्ज होने पर प्रतापनगर थाना पुलिस ने भंडारा महाराष्ट्र कारागृह से सुनील कुमार पांडे को प्रोडक्शन वारंट से गिरफ्तार किया। पूछताछ के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी गिरीराज पांडे को गिरफ्तार किया।

थानाधिकारी विवेकसिंह ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि उन्होंने लोगों के पैसों से मध्यप्रदेश में कई अचल सम्पत्तियां क्रय की। टीम ने वहां आरोपियों की सम्पत्तियों को सत्यापन किया तो आगर मालवा, राजगढ़, शाजापुर, विदिशा, देवास, इन्दौर, गुना में निवेशकों की भूमि मिली। टीम ने वहां के सक्षम अधिकारियों से मिलकर सम्पत्ति को उनके कब्जे कर विक्रय पर रोक की कार्रवाई की। टीम ने आरोपियों से निवेशकों की राशि से खरीदी गई बीएमडब्ल्यू कार भी जब्त की।

Bhagwati Teli Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned