तीन महीनों में सब भ्रष्टाचारियों का हिसाब : प्रो. सिंह

- अनियमितताओं के मामलों में कार्रवाई के लिए वीसी को किया अधिकृत
- जो जांच रिपोर्ट संदिग्ध, उसे फिर करवाएंगे

- सुखाडिय़ा विवि: बोम बैठक

By: bhuvanesh pandya

Published: 29 Nov 2020, 08:42 AM IST

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह ने कहा कि तीन महीनों में सब भ्रष्टाचारियों का हिसाब होगा। यदि किसी पर भी अपराध साबित हो गया तो ना केवल उससे पूरा पैसा वसूलेंगे बल्कि विवि में इस तरह की गड़बड़ी करने पर राजभवन को सूचित कर एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी, उसे जेल जाना होगा। सिंह ने बोम बैठक के बाद पत्रिका से बातचीत में कहा कि हम जल्द से जल्द इस तरह के मामलों को देखकर निर्णय करेंगे। भ्रष्टाचार के मामलों में कोई लिप्त है तो कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कमेटियों की जो रिपोर्ट प्रस्तुत की गई है, उनमें से जिनकी रिपोर्ट संदिग्ध हैं, उसकी फि र से जांच करवाएंगे।

-----
कार्रवाई के बाद सरकार को कराएंगे अवगत

बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट (बॉम) की बैठक शनिवार को कुलपति प्रो अमेरिका सिंह की अध्यक्षता में हुई। विश्वविद्यालय से संबंधित किसी भी प्रकार के अनियमितता एवं भ्रष्टाचार से जुड़े किसी भी मामले में कार्रवाई के लिए कुलपति प्रो सिंह को अधिकृत कर कहा गया कि इन मामलों में कार्रवाई के बाद सरकार को अवगत कराएंगे। बॉम के सदस्यों ने कुलपति प्रो. सिंह द्वारा पिछले चार महीनों में किए गए नवाचारों, सकारात्मक कार्यों एवं शैक्षिक उन्नयन के प्रयासों पर उन्हें बधाई भी दी गई।
-------

ये रहे निर्णय
- 15 फ रवरी के बाद आयोजित सभी कॉउंसिल ऑफ डीन्स सीओडी एवं एकेडमी काउंसिल में रखे गए प्रस्तावों को सर्वसम्मति से स्वीकृत किया गया।

- नई फैकल्टीज व विभागों के गठन, फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एवं आर्किटक्चर की शुरुआत, एचआरडीसी एकेडमिक स्टाफ कॉलेज की स्थापना, विभिन्न पदों पर किए गए मनोनयन, विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों के साथ किए गए एमओयू को स्वीकृति दी गई।
- विश्वविद्यालय के मेन गेट निर्माण के लिए स्वीकृति दी गई।

- जिन विभागों में केवल असिस्टेंट प्रोफेसर ही प्रभारी के तौर पर कार्यरत हैं, अब ऐसे विभाग प्रभारियों को इंचार्ज हेड बनाया गया।
ये रहे मौजूद

बैठक में राज्यपाल के प्रतिनिधि के रूप में प्रो बीपी सारस्वत एवं डॉ. संगीता कुमारी, जॉइंट सेक्रेटरी डॉ. नईम, वित्त विभाग के नामित एडीएम प्रशासन संजय कुमार, योजना विभाग के नामित विनेश सिंघवी, विश्वविद्यालय के वित्त नियंत्रक सुरेश जैन, साइंस कॉलेज डीन प्रो. कनिका शर्मा, कॉमर्स कॉलेज डीन प्रो. पीके सिंह, संबद्ध कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. यदु गोपाल शर्मा, प्रो. साधना कोठारी, प्रो. घनश्याम सिंह राठौड़ एवं डॉ. अजीत भाभोर मौजूद थे।

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned