सीएम गहलोत बोले, सरकार एक जिले-संभाग की नहीं होती, पहले कटारिया ने पूछा बजट में मेवाड़ को सजा क्यों

सीएम गहलोत बोले, सरकार एक जिले-संभाग की नहीं होती, पहले कटारिया ने पूछा बजट में मेवाड़ को सजा क्यों

Mukesh Hingar | Publish: Jul, 17 2019 09:19:30 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

विधानसभा में बजट चर्चा में मेवाड़ पर चर्चा

ashok gehlot

gulab chand kataria

udaipur

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. (udaipur) विधानसभा में सरकार के बजट को लेकर मंगलवार को चर्चा हुई। सदन के नेता मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( ashok gehlot) ने कहा कि मेवाड़ के लिए हमने जो कुछ पहले किया उसे किसने रोका, उन्होंने उदाहरण देते हुए कुछ योजनाएं सामने रखी। इससे पूर्व नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया (gulab chand kataria) ने कहा कि बजट में मेवाड़ के साथ अन्याय किया है।

मुख्यमंत्री गहलोत के जवाब
- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जवाब देते हुए मेवाड़ को लेकर कहा कि सरकार सबकी होती है, किसी एक जिले की या संभाग की नहीं होती है।
- रतलाम से डूंगरपुर वाया बांसवाड़ा रेलव लाइन बिछाने के लिए हमने आधा पैसा हमने जवा करवाया और उसके बाद क्या हुआ?
- दो सुपकर क्रिटिकल पॉवर प्लांट लगने थे, क्या कारण थे कि वे गायब हो गए।
- आदिवासियों के लिए उदयपुर में विवि बनाया हमने, गोविंद गुरु का नाम विवि का रखा आपने, कोई दिक्कत नहीं लेकिन अगर विवि उदयपुर में होता तो पूरे आदिवासी क्षेत्र के बच्चे पढ़ते लेकिन क्या कारण था कि उसे बांसवाड़ा शिफ्ट कर दिया।

पहले कटारिया ये बोले मेवाड़ पर
- कटारिया बोले कि मेवाड़ से 6 जिलों से 26 विधायक है, ये जरूर है कि 15 हमारे जीते, आपके 10 ही जीत पाए लेकिन उसकी सजा जनता को क्यों? बजट 2 लाख 10 हजार करोड़ रुपए का है और मेवाड़ को 100 करोड़ भी प्राप्त करने में समर्थ नहीं है।
- देवास तृतीय व चतुर्थ स्व. सुखाडिय़ा ने बनाया तो उनसे दुश्मनी किस बात की आज, जिस आदमी ने १९६७ में इस योजना को बनाया उस समय कॉलेज में पढ़ते थे, हमने कभी सोचा भी नहीं था ऐसा भी कोई आदमी इतनी दूर की सोचगा।
- देवास की इस योजना पर कोई ज्यादा खर्च नहीं है 1100 करोड़ रुपए है, इससे उदयपुर ही नहीं राजसमंद, मावली, वल्लभनगर भी जोड़ सकते है। उन्होंने माही का पानी जामख व जयसमंद लाने पर भी बात रखी।
- देवास के लिए चाहे तो यहां से प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेज दे, कुछ आप तो कुछ वहां से कोशिश करेंगे और मेवाड़ की इस समस्या का समाधान हो जाएगा।
- उदयपुर को उदयपुर शहर के यातायात समस्या के समाधान के लिए 50 करोड़ रुपए की घोषणा की लेकिन यहं राशि कहां खर्च करेंगे, क्या करेंगे, विभाग को पता तक नहीं और सरकार पता नहीं कौनसी डीपीआर बना रही है। कटारिया ने कहा कि या तो जो बन गए उनको जोडक़र बताएंगे कि यह पुल हमने बना दिए है।
- कटारिया ने उच्च शिक्षा पर बोलते हुए कहा कि उदयपुर में सुखाडिय़ा विवि में 748 पदों में से 206 पद खाली है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned