भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार के साथ मारपीट

- भूपालपुरा थाना पुलिस में मामला दर्ज - शौध सहायक पर मारपीट का आरोप, किया निलम्बित

By: bhuvanesh pandya

Published: 17 Oct 2020, 08:31 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ रघुवीरसिंह चौहान ने संस्था के ही एक कार्मिक डॉ भूपेन्द्रसिंह राठौड़ के खिलाफ उनके साथ मारपीट करने व अभद्र भाषा के इस्तेमाल का मामला भूपालपुरा थाने में दर्ज करवाया है। साथ ही उच्चाधिकारियों को जानकारी देने के बाद मिले निर्देश पर उन्होंने राठौड़ को निलम्बित कर दिया है। जांच अधिकारी हैड कांस्टेबल भगवतसिंह ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। मामले में आरोपी राठौड़ ने इसे झूठा मुकदमा बताया है।

-----

पुलिस के अनुसार रजिस्ट्रार प्रतिदिन सुबह की तरह 11.15 बजे नियमित हनुमान मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे। विवि के ही प्रताप शोध प्रतिष्ठान में कार्यरत शोध सहायक भूपेन्द्रसिंह राठौड़ ौहान के सामने गाली गलौच कर मारने के लिए पहुंचा। उन्होंने चौहान का हाथ पकड़ा उन्हें घसीटकर एक ओर ले गया और धक्का मुक्की कर मारपीट की। साथ ही उन्होंने रजिस्ट्रार चौहान को काम तमाम करने की धमकी दी। इसके बाद चौहान ने जैसे-तैसे हाथ छुड़ाकर जान बचाई और गाड़ी लेकर कार्यालय पहुंचे। इसके बाद चौहान ने मामले की जानकारी कुलपति जीवनसिंह राणावत और चेयरपर्सन प्रदीपकुमार सिंह को दी। दोनों से मिले निर्देश के आधार पर रजिस्ट्रार ने डॉ भूपेन्द्रसिंह राठौड़ को निलम्बित कर दिया है।

----

झूठा है मुकदमा

यह पूरा मामला झूठा है, इसमें कोई सत्य नहीं है। जो गवाह बनाए है, वह भी बाहर के हैं। इस तरह की कोई घटना हुई ही नहीं है। विश्वविद्यालय में रजिस्ट्रार की उम्र 65 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए, स्टाफ वालों ने मोर्चा खोला तो उन्होंने मेरे खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया है। जब भी एमडी बुलाते हैं और मैं नीचे उनके पास जाता हूं तो वह विरोध करते हैं। रजिस्ट्रार की उम्र 67 वर्ष की हो चुकी है। रजिस्ट्रार के खिलाफ विद्या प्रचारिणी सभा के सचिव डॉ महेन्द्रसिंह आगरिया को स्टाफ प्रतिनिधियों ने लिखित में शिकायत दर्ज करवाई है कि विवि अधिकारियों की नीतियों के चलते संस्था को आर्थिक और सामाजिक नुकसान हो रहा है। पुलिस जांच में सच सामने आ जाएगा।

डॉ भूपेन्द्रसिंह राठौड़, शोध सहायक प्रताप शोध प्रतिष्ठान

----

मुझे घसीटा, शर्ट फाड़ा और चश्मा तोड़ा

शोध सहायक भूपेन्द्रसिंह राठौड़ ने सुबह मेरे साथ मारपीट की, अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। मुझे घसीटा और मेरा शर्ट फाड़ दिया और चश्मा भी तोड़ दिया। इसे लेकर मैंने वीसी और संस्था चेयरमैन को शिकायत की थी। उनसे मिले निर्देश पर मैंने राठौड़ को निलम्बित कर उसके खिलाफ भूपालपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया है।

डॉ रघुवीरसिंह चौहान, रजिस्ट्रार भूपाल नोबल्स विवि उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned