पैदा हुआ लड़का, डिस्चार्ज टिकट पर दिखाया लड़की

पैदा हुआ लड़का, डिस्चार्ज टिकट पर दिखाया लड़की
रिकॉर्ड खंगाला तो खुली बड़ी पोल

bhuvanesh pandya | Updated: 10 Jul 2019, 11:25:02 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

- राजश्री योजना की बकाया किस्त का मामला,
- रिकॉर्ड खंगाला तो खुली बड़ी पोल

- पैसा डकारने के लिए की गड़बड़ी

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर . एक वर्ष से अधिक समय पूर्व यानी १५ मार्च १८ को चंदेसरा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पैदा हुए एक लड़के को कुछ ही समय के बाद डिस्चार्ज टिकट पर लड़की बना दिया गया। यह कारस्तानी इसलिए की गई ताकि सरकारी योजना की राशि हासिल की जाएगी। यह खेल किया तो वहां के स्टाफ ने लेकिन चिकित्सा महकमा अब इसे मानवीय भूल बताकर पूरा मामला ढकने का प्रयास कर रहा है।

जूनावास की रंजना पत्नी नारायण का १५ मार्च को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चंदेसरा में प्रसव करवाया गया। उसने बेटे को जन्म दिया और लेबर रूम के रजिस्टर में भी उसे मेल चाइल्ड अंकित किया गया था, लेकिन राजश्री योजना की राशि डकारने के लिए उसे बेटी बताकर योजना की पहली किस्त २५०० रुपए तक जारी करवा दी। यह गड़बड़ी तब पकड़ में आई, जब उसे दूसरी किस्त जारी करने की बारी आई। यह खुलासा पीटीएस आईडी से हुआ। ऑनलाइन सॉफ्टवेयर में दूसरी किस्त बकाया बताई जा रही थी। जब उसे बुलाकर पूछा गया तो पता चला कि उसके तो बेटा हुआ है।

एएनएम मंजू औदिच्य ने पत्रिका को बताया कि जूनावास की इस प्रसूता के तो बेटा हुआ था, जिसे बाद में बेटी बता दिया गया। हालांकि यह कैसे हुआ, इसकी उसे जानकारी नहीं है। राजश्री योजना की दूसरी किस्त के बारे में पूछा गया तो पता चला कि उसके नाम से किसी अन्य ने राशि उठा ली है।

कमेटी का किया गठन
मावली ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खेमली के वरिष्ठ चिकित्सा प्रभारी ने इस मामले में चिकित्सा अधिकारी डॉ भूपेन्द्र जणवा, महिला स्वास्थ्यदर्शिका रानी स्टीफन की जांच कमेटी गठित की है।

------

यह मेरी ज्वाइनिंग से पहले का मामला है। मुझे इसकी पूरी जानकारी नहीं है, यह मानवीय भूल हो सकती है। लेबर रूम के रिकॉर्ड के अनुसार लड़का है, जबकि डिस्चार्ज टिकट पर इसे लड़की बता दिया था।

डॉ निधि यादव, प्रभारी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चंदेसरा

-----

गलती से एेसा दर्ज हो गया हो, मुझे इसकी जानकारी नहीं है। पूरी जानकारी लेकर जांच करवाएंगे। यदि एेसा हुआ है तो गलत है। मानवीय भूल कई बार हो जाती है।
डॉ दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ उदयपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned