होटलों में मांग बढ़ी तो सुरेश ने शुरू की सब्जी की खेती

खेतों में चमक रही ब्रॉकली व लेट्यूस की सब्जी

By: surendra rao

Updated: 23 Feb 2021, 06:15 PM IST

गुड़ली. (उदयपुर). जिले के किसान परम्परागत फसलों से इतर उन्नत फसलों के उत्पादन में भी हाथ आजमा रहे हैं। बिछड़ी गांव में चाय व किराणा की दुकान चलाने वाले सुरेश डांगी ने कृषि में गेहंू व मक्का की फ सल के साथ सब्जियों में कुछ नया करने का सोचा और पहली बार उन्नत तकनीक से काम किया, जिससे सब्जियों में चमक आ गई। गुड़ली के पास रहने वाले सुरेश ने करीब एक बीघा जमीन में सितारा किस्म की मिर्च और टमाटर के साथ पहली बार ब्रॉकली व लेट्यूस की सब्जियां बोई। लेट्यूस एवं ब्रॉकली इस क्षेत्र में पहली बार देखने को मिल रही है। सुरेश की ये नई तकनीक की सब्जी बड़ी होटलों में बिक रही है। लेट्यूस व ब्रॉकली 50 से 80 रुपए किलो बिक रही है। सुरेश सब्जियों की ड्रिप सिस्टम से सिंचाई करते हैं। लेटुयस को सलाद की फ सल भी कहा जाता है क्योंकि इसे कच्चे ही सेवन किया जाता है।
पूरी तरह ऑर्गेनिक खेती: ब्रॉकली की खेती पूर्णतया ऑर्गेनिक तरीके से की जा रही है। फसल पर केवल पंचपर्णी अर्क का छिड़काव किया जाता है। किसानों ने बताया कि दो बार इस फसल की निराई-गुड़ाई करनी होती है। तीन बार सिंचाई की जाती है और ब्रॉकली की फसल तैयार हो जाती है। तीन माह में उत्पादन होने लगता है।
बायफ संस्थान से मिली मदद : सुरेश ने अपनी ओर से 15 हजार रुपए जमा कराए और उसे बायफ संस्था की ओर से ड्रिप ऐरिकेशन सेट, खाद, दवाइयां, बीज, स्प्रे पम्प आदि करीब 70 हजार की मदद दी। इससे नई तकनीकी से खेती करना संभव हुआ।

Show More
surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned