उदयपुुर में प्रारम्भ किये गये बजट कैंप को जिला शिक्षा अधिकारी का घेराव कर कारण्‍ से कराया बंद

उदयपुुर में प्रारम्भ किये गये बजट कैंप को जिला शिक्षा अधिकारी का घेराव कर कारण्‍ से कराया बंद

Madhulika Singh | Publish: Sep, 05 2018 08:00:00 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

भुवनेश पंड्या/उदयपुर. राज्य सरकार द्वारा राज्य के स्कूली शिक्षा विभाग में विभिन्न कार्यालयों के पुनर्गठन में 3000 मंत्रालयिक एवं सहायक कर्मचारियों के पद समाप्त करने को लेकर आक्रोशित कर्मचारी एकत्र हुए और जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक द्वितीय की ओर से शुरू किए गए बजट कैंप को बंद करवाया। आक्रोशित कर्मचारी शिक्षा विभागीय कर्मचारी समन्वय समिति के अध्यक्ष अनिल पालीवाल एवं राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ (भामस) के प्रदेश उपाध्यक्ष कमल प्रकाश बाबेल के नेतृत्व में जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक द्वितीय कार्यालय पहुंचे और वहां पर नारेबाजी एवं उग्र प्रदर्शन करते हुए नागौरी का 2 घन्टे तक घेराव किया।

 

READ MORE : उदयपुर में 544 में से केवल 64 पंचायतें ही ‘उजियारी’..इन आंकड़ोंं से सामने आई शिक्षा के उजास की हकीकत

 

कर्मचारी बजट कैंप को तत्काल स्थागित करने के आदेश जारी करने पर अड़ गये । आदेश जारी नहीं होने तक कर्मचारी घेराव व प्रदर्शन करते रहे । इस पर नागौरी ने अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक द्वितीय चन्द्रशेखर जोशी को निर्देश दिये कि तुरन्त कैंप को स्थगित आदेश जारी कर जिले के सभी विद्यालयों के संस्था प्रधानों को ई-मेल द्वारा सूचना प्रेषित कर दी जाये, इस पर जोशी ने आदेश तैयार करा नागौरी से हस्ताक्षर करा एक प्रति कर्मचारियों को दी, इसके बाद कर्मचारियों ने घेराव और प्रदर्शन समाप्त किया। बाबेल ने बताया कि वहां से कर्मचारी वाहन रैली के रूप में जिला परिषद कार्यालय पहुंचे और नारेबाजी करते हुए जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल को ज्ञापन दिया, और उन्है जानकारी दी कि शिक्षा विभाग के उदयपुर कार्यालयों में 80 प्रतिशत कर्मचारियों के पद समाप्त कर दिये गये हैं जिससे विभागीय कार्य व्यवस्था चरमरा जायेगी, इस पर जिला प्रमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री एवं शिक्षामंत्री को कार्य के अनुरूप पद आवंटन की अनुशंसा करने का आश्वासन दिया। प्रदर्शन के दौरान अध्यक्ष अनिल पालीवाल, गोपाल वर्मा, प्रदीप गहलोत, पुरूषोत्तम पाराशर, गगन वशिष्ठ, राजेन्द्र श्रीमाली सहित कई शिखक मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned