अब इस तरह कसा जाएगा चुनावी भ्रष्टाचार पर नकेल, चुनाव आयोग ने जारी किया ये एप

अब इस तरह कसा जाएगा चुनावी भ्रष्टाचार पर नकेल,  चुनाव आयोग ने जारी किया ये एप

madhulika singh | Publish: Sep, 05 2018 06:55:18 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

धीरेन्द्र जोशी/उदयपुर. भारतीय चुनाव आयोग ने सी-विजिल नामक एप बनाया है जिसके माध्यम से कोई भी आम और खास व्यक्ति चुनाव से संबंधित शिकायत कर पाएगा। इस पर चुनाव के दौरान राशि, मादक पदार्थ या उपहार बांटने, बिना अनुमति लगे पोस्टर सहित अन्य प्रकार की कई शिकायतें आसान की जा सकेंगी। अभी एप का ट्रायल चल रहा है।

जिला निर्वाचन अनुभाग के प्रभारी मोहन सोनी ने बताया कि एप को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। जल्द ही एप पर आने वाली शिकायतों को दूर करना भी शुरू कर दिया जाएगा। एप मात्र 5 एमबी का है और इसका उपयोग आसान है।

ऐसे काम करता है एप
एप को डाउनलोड करने के बाद मोबाइल की स्क्रीन पर स्टिल और वीडियो कैमरा का लोगो दिखाई देगा। शिकायतकर्ता वीडियो और फोटो दोनों ही डाल सकता है। वीडियो और फोटो बनाने के साथ ही एप जिला और शिकायत के प्रकार को चुनने के बारे में पूछता है। शिकायत का विवरण दर्ज करने का ऑप्शन भी है। शिकायत करने के बाद एक मैसेज आएगा जिसमें शिकायत का आईडी नंबर भी आएगा।

 

READ MORE : video : ये गांव आज भी जूझ रहे हैं इन परेशान‍ियों से..आज तक कोई नहीं पहुंचा इन्‍हें दूर करने

 

ये दिए हैं ऑप्शन

शिकायत के प्रकार के विकल्प (ऑप्शन ) में धन वितरण, उपहार/कूपन वितरण, शराब वितरण, अनुमति के बिना पोस्टर/बैनर, आग्नेयास्त्रों का प्रदर्शन, धमकी, अनुमति के बिना वाहन या कन्वॉय, पेड न्यूज, संपत्ति का विवरण, मतदान दिवस पर मतदाताओं को लाना-ले जाना, मतदान केंद्र के 200 मीटर के भीतर प्रचार करना, प्रतिबंधित अवधि के दौरान प्रचार करना, धार्मिक या सांप्रदायिक भाषण/संदेश, समयबद्ध स्पीकरों का उपयोग, अनिवार्य घोषणा के बिना पोस्टर सहित अन्य आदि ऑप्शन दिए गए हैं।

ऐसे होगी कार्रवाई
चुनाव आयोग की ओर से हर जिले में सी-विजिल कमेटी बनी हुई है जिसमें कलक्टर, दोनों एडीएम, सुपरवाइजर, बीएलओ सहित दस सदस्य है। शिकायत होने के बाद चुनाव आयोग की विशेष कमेटी के पास शिकायत पहुंचेगी। वहां से सी-विजिल कमेटी के सभी सदस्यों के पास मैसेज जाएगा। शिकायत पर सक्षम अधिकारी तुरंत कार्रवाई करेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned