video: मुख्यमंत्री और नगरीय विकास मंत्री के क्षेत्र ही स्वच्छता रैंकिंग की तैयारी में फिसड्डी

video: मुख्यमंत्री और नगरीय विकास मंत्री के क्षेत्र ही स्वच्छता रैंकिंग की तैयारी में फिसड्डी

Mukesh Hingar | Publish: Oct, 24 2017 03:07:17 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

गिनती के लोग जुड़े, जो जुड़े उनकी समस्या को देखा तक नहीं, स्वच्छता रैंकिंग को लेकर सरकार रोज पिला रही घुट्टी

 

मुकेश हिंगड़/उदयपुर. स्वच्छता रैंकिंग 2018 में राजस्थान के शहरों का परिणाम देश के अन्य शहरों से बेहतर हो, इसके लिए सरकार ने पूरा जोर लगा रखा है क्योंकि इस परीक्षा में दो माह शेष रहे हैं। सरकार अब सर्वेक्षण में शामिल शहरों में अधिकाधिक संख्या में स्वच्छता एप डाउनलोड करवाने की बात भी कह रही लेकिन मुख्यमंत्री और नगरीय विकास (यूडीएच) मंत्री के ही गृहक्षेत्र की तो इस एप के मामले में बेहद खराब स्थिति है। इसमें बहुत कम लोगों ने एप डाउनलोड कर रखा है और समस्याएं भी गिनती की दर्ज हुई लेकिन उनका समाधान नहीं किया गया है।


केन्द्र सरकार की स्वच्छ सिटी वेबसाइट पर मुख्यमंत्री का क्षेत्र झालावाड़ और यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी का क्षेत्र निम्बाहेड़ा का प्रदर्शन ठीक नहीं है, जबकि एप के अंक भी स्वच्छता रैंकिंग के नंबर गेम में प्रदर्शन सुधारने में उपयोगी साबित होंगे। ऐसे में सरकार ने इस प्लेटफॉर्म पर काम करने को कहा लेकिन दोनों बड़े मुखिया के शहरों की हालत ही फिसड्डी बनी हुई है। इनके मुकाबले डूंगरपुर, प्रतापगढ़ जैसे छोटे शहरों का प्रदर्शन बेहतर है।


झालावाड़-निम्बाहेड़ा की स्थिति ऐसी
मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र झालावाड़ में कुल 142 जनों ने एप डाउनलोड कर 11 समस्याएं दर्ज करवाई लेकिन समाधान किसी का नहीं किया गया। इसी प्रकार यूडीएच मंत्री कृपलानी के निर्वाचन क्षेत्र निम्बाहेड़ा में मात्र 19 जनों ने एप डाउनलोड किया। उनमें से भी 4 जनों ने समस्याएं दर्ज करवाई, लेकिन समाधान किसी का नहीं किया गया। मंत्री कृपलानी के दफ्तर से आए दिन सभी निकायों को स्वच्छता को लेकर घुट्टी पिलाई जा रही है लेकिन वे अपने क्षेत्र तक की स्थिति सुधर नहीं पाए हैं।

 

READ MORE: VIDEO: लोक सेवक संरक्षण संबंधी विधेयक के विरोध में अब उतरे पत्रकार , कहा लोकतंत्र के लिए खतरा है अध्‍यादेश

 

एप पर शहरों की स्थिति

शहर...दर्ज समस्याएं ...समाधान

डूंगरपुर...54...53
प्रतापगढ़...459...446

बीकानेर ...496...37
जयपुर 4710...2261

जोधपुर 459...107
अजमेर 310...200

श्रीगंगानगर 00...00
कोटा 131...00

उदयपुर 1620..00
भरतपुर 20...00

चित्तौडगढ़़ 53...22
हनुमानगढ़ 38...00

सलूंबर 02...00
भींडर 00...00

बांसवाड़ा 10...00
राजसमंद 08...00

भीलवाड़ा 44...00
झालावाड़ 11...00

निम्बाहेड़ा 04...00
पुष्कर 03...00

(स्रोत : भारत सरकार की स्वच्छता सिटी वेबसाइट)

स्वच्छता रैंक को लेकर हर विषय पर काम किया जा रहा है। हमने एप डाउनलोड कराने और उस पर आने वाली समस्याओं के समाधान को लेकर अभी काम शुरू किया है। हमारा प्रयास है कि अभी हम जितने पीछे हैं, उसको महीने भर में कवर कर लेंगे। हमने ऊपर से नीचे के स्तर तक इस पर प्राथमिकता से काम करने को कहा है। यह कह सकते हैं कि इसमें अच्छे परिणाम ले आएंगे।
- श्रीचंद कृपलानी, नगरीय विकास मंत्री

dirty udaipur

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned