अब काम की समीक्षा के लिए सब एक साथ नहीं, ग्रुप वार होगी मंडे मीटिंग

पहली बैठक में बोले कलक्टर परिवादी शिकायत लेकर आता है तो निस्तारण समय पर हो

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 27 Jan 2021, 11:21 AM IST

उदयपुर. विभागों के कामकाज की समीक्षा के लिए सभी विभागों को एक साथ बुलाकर होने वाली मंडे मीटिंग का पैटर्न अब बदल दिया है।

जिला कलक्टर का मानना है कि एक साथ सभी विभागों के जुटने से परिणाम बेहतर नहीं आते है तो इसमें अब विभागों के ग्रुप बना दिए है और प्रत्येक सप्ताह उस ग्रुप के अनुसार बैठक होगी।

कोविड की वजह से बंद हुई मंडे मीटिंग वापस शुरू हुई। पहली बैठक ग्रुपवार ही हुई। बैठक पहले सुबह होनी थी लेकिन मुख्य सूचना आयुक्त की बैठक की वजह से इसका समय शाम को किया गया।

जिला कलक्टर चेतन देवड़ा की अध्यक्षता में हुई बैठ में पहले सप्ताह की ग्रुप बैठक में लोक सेवा, विद्युत, जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी, जल संसाधन, सार्वजनिक निर्माण व एनएच, आरएसआरडीसी, आवासन मण्डल, एनएचएआइ, कोष कार्यालय, सूचना एवं प्रौद्योगिकी एव भू-जल संरक्षण सहित आदि विभागों के कामकाज की समीक्षा की गई।

इन विभागों में जहां प्रकरण निस्तारित नहीं हुए उनको लेकर अगली बार जब वापस बैठक होगी तब परिणाम लेकर उपस्थित होने को कहा है। इसमें इनको पहले सात दिन मिलते थे अब समय बहुत ज्यादा मिलेगा।
कलक्टर ने कहा कि कोई भी परिवादी आपके पास शिकायत लेकर आता है तो उसका समय पर निस्तारण करना पहली प्राथमिकता है।

इसके लिए निर्धारित व्यवस्था के अनुरूप कार्य करे, किसी भी पोर्टल पर कोई शिकायत दर्ज होती है तो उसके संबंध में की गई कार्यवाही, पत्राचार या प्रकरण के निस्तारण की सूचना भी संबंधित पोर्टल पर अपडेट करें।

उन्होंने बजट घोषणाओं के तहत स्वीकृत कार्यों को सरकार को मंशा के अनुरूप आमजन के हित शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) अशोक कुमार आदि उपस्थित थे।

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned