बाल विवाह जैसे संवेदनशील मामले में उदयपुर प्रशासन की गंभीर चूक, किए गलत नम्बर जारी

madhulika singh

Publish: Apr, 17 2018 12:24:37 PM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
बाल विवाह जैसे संवेदनशील मामले में उदयपुर प्रशासन की गंभीर चूक, किए गलत नम्बर जारी

उदयपुर . एक महिला के पास घनघनाए फोन कहा- अब तक नौ जने बोले कि बाल विवाह रुकवाओ.

उदयपुर . बाल विवाह जैसे संवेदनशील मुद्दे पर उदयपुर जिला प्रशासन की गंभीर लापरवाही सामने आई है। बाल विवाह की सूचना देने के लिए जिला प्रशासन ने गलत नम्बर जारी कर दिए। नम्बर एक महिला के हैं, जो पिछले चार दिन से परेशान हो रही है। अब तक महिला के पास बाल विवाह को लेकर नौ सूचनाएं आ चुकी हैं। अगर सही नम्बर जारी हुए होते तो इन नौ जगह पर संभवत: कार्रवाई होती। पत्रिका टीम ने मंगलवार को प्रशासन की ओर से जारी नम्बरों की टोह ली तो यह चौंकाने वाली जानकारी सामने आई।

 

टीम ने कलक्टर से लेकर एक-एक जिम्मेदार से इस संबंध में बातचीत की। आखिर शाम को कलक्टर ने इस मामले में गलती स्वीकारी और सही नम्बर जारी करने के निर्देश जारी किए।


कहां-क्या हुआ? जानिए : जिला प्रशासन के माध्यम से जनसम्पर्क विभाग ने बाल विवाह संबंधी सूचनाएं देने के लिए महिला एवं बाल विकास का 24256...(किसी के घर के नम्बर होने से अधूरे प्रकाशित) नम्बर दिए थे, ये नम्बर महिला एवं बाल विकास के नहीं होकर निजी थे। यहां एक महिला ने फोन उठाया। स्वयं का नाम मोनिका (परिवर्तित नाम) बताया और कहा कि बाल विवाह हो रहा है तो वह क्या करें। फिर पत्रिका टीम ने परिचय देते हुए फोन करने का कारण बताया तो उसने पूरी स्थिति बताई।


पत्रिका की पड़ताल में हुआ खुलासा तो चेते कलक्टर, जारी किए दूसरे नम्बर, गलती स्वीकारी


पत्रिका ने कलक्टर को बताई बात: इस संबंध में पत्रिका टीम ने जिला कलक्टर को जानकारी दी। कलक्टर ने इस मामले में अपने जिम्मेदारों की गलती स्वीकारी और सही नम्बर जारी करने के संबंधित को निर्देश दिए।

 

 

कलक्टर ने कहा
यह एक गलती हुई थी, जल्द ही सही फोन नम्बर सभी तक प्रसारित करेंगे। जिलेवासियों और संबंधित महिला को असुविधा हुई है, जिसका हमें खेद है।
बिष्णुचरण मल्लिक, जिला कलक्टर, उदयपुर

 

सात बार कॉल, नहीं उठाया, कॉलर ट्यून- दर्द दिलों के कम हो जाते हैं...
जिला प्रशासन के नियंत्रण कक्ष के फोन नम्बर: 0294-2414620 पर करीब सात बार से ज्यादा फोन किया तो किसी ने नहीं उठाया। हां, यहां कॉलर ट्यून जरूर बज रही थी दर्द दिलों के कम हो जाते...मैं और तुम गर हम हो जाते...।


यहां हुई हलचल : पुलिस महकमे के फोन नम्बर: 0294-2415133 पर फोन करने पर कहा गया कि तुरन्त स्थान का नाम बताओ ताकि हम वहां पहुंचकर कार्रवाई कर सके। उन्होंने संबंधित शिकायतकर्ता के नाम व नम्बर भी मांगे। बाद में फिर फोन आ गया कि अब हम उसी लोकेशन पर खड़े हैं, आप कहां हो? चाइल्ड लाइन के नम्बर 1098 पर भी डायल किया तो उन्होंने कहा कि आप हमें सूचना दें, हमारी टीम वहां पहुंच रही है।


पत्रिका ने चेताया तो सही किए फोन नम्बर : पत्रिका ने जैसे ही इसकी सूचना महिला एवं बाल विकास अधिकारी तरू सुराणा को दी तो उन्होंने इसकी वास्तविकता जानने के लिए वहां बात की। नम्बर गलत मिले। उन्होंने गलती स्वीकारी। कलक्टर ने भी इसमें जिम्मेदारों की गलती मानी। शाम को जनसम्पर्क विभाग ने नए नम्बर 0294-2425377 जारी कर, यहां बाल विवाह संबंधी सूचना देने का कलक्टर के हवाले से आग्रह किया।

 

यहां हुई चूक
बाल विवाह की रोकथाम और इसकी गुप्त सूचना के लिए जिला प्रशासन ने तीन नम्बर जारी किए। एक बाढ़ नियंत्रण कक्ष का, दूसरा महिला एवं बाल विकास विभाग तथा तीसरा पुलिस विभाग का। पत्रिका टीम ने इन नम्बर पर सजगता परखने के लिए फोन किया तो बाल विकास विभाग का टेलीफोन नम्बर ही गलत निकला। एक महिला ने फोन उठाया और गुस्से से कहा कि क्या आपको भी बाल विवाह की सूचना देनी है। यह नम्बर गलत है और मैं स्वयं परेशान हूं। जब पत्रिका प्रतिनिधि ने परिचय देते हुए बात की तो उसने बताया कि अब तक नौ सूचनाएं आई है, लेकिन वह इनका क्या करे?

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned