हर डॉक्टर, नर्स और प्रत्येक स्वास्थ्य कर्मी का कोरोना टेस्ट

- आरएनटी मेडिकल कॉलेज की कोविड 19 कोर कमेटी की बैठक में हुआ निर्णय

By: bhuvanesh pandya

Published: 04 Apr 2020, 08:19 AM IST

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. महाराणा भूपाल हॉस्पिटल की स्वाइन फ्लू वार्ड की नर्स के कोरोना पॉजिटिव सामने आने के बाद शुक्रवार को हुई कोविड 19 की कोर कमेटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि वार्ड से जुड़े प्रत्येक डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय का कोरोना का टेस्ट होगा, हालांकि इनमें से ज्यादातर का शुक्रवार को टेस्ट हो गया है, तो सभी पहले टेस्ट में नेगेटिव मिले हैं। डॉ लाखन पोसवाल की अध्यक्षता में बैठक हुई थी।

----

यदि इनमें से कोई पॉजिटिव आता है, या जिसमें कोई कोरोना संक्रमण के लक्षण है या उसके समान लक्षण है तो उसे कोविड आइसोलेनशन वार्ड में भर्ती किया जाएगा।

- यदि कोई कोविड नेगेटिव आता है तो उसे 5 से 14 दिन तक होम क्वारंटाइन में रहना होगा। इसमें नर्स के संपर्क में आने से 14 दिन तक क्वारंटाइन में रहना होगा। इसे लेकर 26 स्टाफ कर्मियों को कजरी में क्वारंटाइन कर दिया गया है।

- जो स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव वार्ड में कार्यरत हैं, उन्हें क्वारंटाइन फेसिलिटी चिकित्सालय प्रशासन की ओर से दी जाएगी। उसे अपने अंतिम कार्यदिवस के 14 दिन तक क्वारंटाइन में रखा जाएगा।

- इस स्वाइन फ्लू वार्ड को संक्रमण रहित किया जाएगा, पुरानों को सभी को क्वारंटाइन कर नया स्टाफ लगाया जाएगा।

-----

कोरोना वार्ड के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए अलग से आने-जाने की व्यवस्था की गई है,

bhuvanesh pandya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned