गुजराती परिवार की आत्‍महत्‍या बनी हुई है रहस्‍य, पुुुुल‍ि‍स भी उलझन में आख‍िर क्‍यों खाया हंसते-खेलते परिवार ने जहर

पुत्र-पुत्री गंभीर, एमबी हॉस्पिटल में भर्ती, दोपहर को ही उदयपुर आए थे, कर्ज से परेशान बता रहा परिजन, काफी प्रोपर्टी होने से पुलिस के नहीं उतर रहा गला

उदयपुर. मोड़ासा (गुजरात) के एक व्यापारी ने बुधवार को यहां गोवद्र्धनविलास क्षेत्र में स्थित हर्ष पैलेस होटल में कोल्ड ड्रिंक्स में जहर मिलाकर पी लिया। इससे व्यापारी व उसकी पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई तथा पुत्र व पुत्री अचेत हो गए, जिन्हें यहां एमबी. चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। चिकित्सको ने पुत्र की हालत नाजुक बताई है। आत्महत्या के कारणों का फिलहाल खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन परिजनों ने कर्ज से परेशान बताया है, जो पुलिस के गले नहीं उतर रहा है क्योंकि परिजनों से बातचीत में मृत व्यापारी के काफी सम्पत्ति सामने आई है, उसके मुकाबले कर्ज कम था। इधर, पुलिस ने मृतकों के परिजनों को सूचना भिजवाई है, उनके आने के बाद ही आत्महत्या के कारणों को स्पष्ट खुलासा हो पाएगा।
उपाधीक्षक (गिर्वा) प्रेम धणदे ने बताया कि जहर पीने से मोड़ासा निवासी नैनेश (42) पुत्र हंसमुख शाह, उसकी पत्नी दामिनी शाह (40) की मौत हो गई तथा उनका बेटा नंद (16) व बेटी विधि (14) को अस्पताल में गहन चिकित्सा इकाई मे भर्ती किया गया।

दोपहर को ही ऑटो से होटल पहुंचे थे परिवार के सदस्य

व्यापारी नैनेश मंगलवार रात सभी को घर पर नाथद्वारा स्थित श्रीनाथजी के दर्शन का कहकर निकला था। दोपहर को परिवार के सदस्य बस से उदयपुर पहुंचे। टेम्पो से 12.15 बजे गोवद्र्धनविलास हर्ष पैलेस होटल में आए। करीब 1.30 बजे नैनेश की पुत्री विधि उल्टी करते हुए कमरे से बाहर निकली। वह कुछ बोल पाती उससे पहले ही बेसुध होकर गिर पड़ी। उसके मुंह में झाग आ रहे थे। होटल कर्मियों ने कमरे में जाकर देखा तो परिवार के अन्य सदस्य इधर-उधर नीचे बेसुध पड़े थे। होटल कर्मचारियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सभी को अस्पताल पहुंचाया।

दुर्गन्ध इतनी कि मुश्किल हुआ अंदर जाना

पुलिस के अलावा एफएसएल टीम के सुनीतपाल, सुशीला चौधरी व बलजीत ने मौके पर पहुंचकर आवश्यक साक्ष्य लिए। टीम ने बताया कि मौके पर फर्श पर दो जगह उल्टी मिली वहीं बेड पर कोल्ड ड्रिंक्स गिरी हुई थी। निकट ही कीटनाशक की बोतल रखी थी, जिसे कोल्ड ड्रिंक्स में मिलाकर पिया गया था। जब पुलिस व एफएसएल टीम कमरे में पहुंची तो वहां काफी दुर्गन्ध फैली हुई थी। टीम जब बाहर निकली तो उनके कपड़ों में भी दुर्गान्ध हो गई। पुलिस ने मृतकों के परिजनों को घटना की जानकारी दी, जो देर शाम तक उदयपुर नहीं पहुंचे।


कर्जा इतना नहीं कि तनाव में आए

पुलिस ने व्यापारी के परिजनों को सुसाइड करने की जानकारी दी तो वे चौंक पड़े। मृतक नैनेश के साले ने पुलिस को बताया कि दो दिन पहले ही जीजा से बात हुई थी। उन्होंने उस वक्त कर्ज का जिक्र किया था लेकिन उनके पास इतनी प्रोपर्टी है कि सिर्फ एक को बेचते तो भी उसे आसानी से चुकाया जा सकता था। परिजनों के इस बयान से पुलिस को कर्ज के चलते आत्महत्या का कारण गले नहीं उतर रहा है।

madhulika singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned