उदयपुर में युवक की हत्या के बाद मुल्जिमों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजनों ने नहीं उठाया शव, मुर्दाघर के बाहर किया हंगामा

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Krishna

Published: 23 Jul 2018, 06:00 AM IST

मो. इलियास/उदयपुर.गांधीनगर मल्लातलाई निवासी महेन्द्र पुत्र प्रकाश छापरवाल ने रिपोर्ट दी, बताया कि मैं व मेरा भाई गजेन्द्र छापरवाल उर्फ गज्जू, अंकल मुरली छापरवाल व राहुल तंबोली बाइक व स्कूटर से रामपुरा में भूखंड देखकर वापस लौट रहे थे, एकलिंगनाथ गार्डन के सामने पहुंचते ही पीछे से दो बाइक पर सुनील उर्फ बंटी पुत्र शंभूलाल लोट, दीपक चंदेल उर्फ गुड्डू उर्फ पुत्र रमेश चंदेल, रमेश पुत्र नाथू चंदेल व एक अन्य बाइक पर तीन जने आए और उन्होंने गजेन्द्र छापरवाल को जान से मारने की नीयत से रिवाल्वर से 4-5 फायर कर दिया। गजेन्द्र को गोली लगने के साथ ही वह व साथी राहुल तंबोली के साथ बाइक से नीचे गिर गया। मौके पर मैं व मुरली गजेन्द्र को उठाकर निजी चिकित्सालय ले गए जहां से उसे महाराणा भूपाल चिकित्सालय रेफर किया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।परिवादी का आरोप है कि घटना के समय मौके से एक कार भी निकली थी जिसमें रजनीश चंदेल व महिला वीना लोट बैठी थी। गजेंद्र छापरवाल हत्याकांड में मुल्जिमों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजनों ने शव नहीं उठाया। मुर्दाघर के बाहर परिजनों का ने हंगामा कर दिया। ढाई साल पहले विनोद लोट की हत्या के मामले में बंद मृतक के पिता प्रकाश छापरवाल को छुड़वाने पर भी परिजन अड़े । बहन सीमा ने पुलिसकर्मियों पर मिलीभगत का आरोप लगाया। कहा-आरोपी लगातार दे रहे थे धमकी, अम्बामाता थाने में रिपोर्ट पर भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की । पुलिस की समझाइश पर भी परिजन नहीं माने , पुलिस के प्रति आक्रोश जताया ।

 

READ MORE : उदयपुर में फायरिंग की घटनाओं के बाद अब मर्डर से फैली दहशत, गैंगवार में युवक की गोली मारकर हत्या

 

युवक की हत्या से फिर से सनसनी फैल गई

उदयपुर. शहर में व्यवसायियों पर लगातार फायरिंग की घटनाओं में पुलिस ने चंद गुर्गो को पकडक़र एक दिन पूर्व जहां वाहवाही लूटी वहीं दूसरे ही दिन शनिवार को गैंगवार में एक युवक की हत्या से फिर से सनसनी फैल गई। रामपुरा चौराहे के एकलिंग गार्डन के सामने दो बाइक सवार चार युवकों ने बदले की नीयत से मल्लातलाई निवासी गजेन्द्र (32) पुत्र प्रकाश छापरवाल को गोली मार दी। घटना के समय साथ रहे उसके भाई व दोस्त उसे उठाकर निजी चिकित्सालय ले गए। जहां हालत गंभीर होने पर एमबी चिकित्सालय रेफर किया गया, वहां पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया। घटना के बाद आक्रोशित परिजनों व भाई ने दीपक चंदेल, रमेश चंदेल, सुनील लोट व रजनीश चंदेल पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को रिपोर्ट दी। पुलिस ने बताया कि दो साल पहले गजेन्द्र व उसके परिजनों ने विनोद लोट की हत्या कर दी थी

Krishna Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned