दंगल में ‘दंगल’ : पुरुष केसरी के खिताबी मुकाबले में हुआ विवाद, सांसद व विधायक के सामने चले लात-घूंसे

दंगल में ‘दंगल’ : पुरुष केसरी के खिताबी मुकाबले में हुआ विवाद, सांसद व विधायक के सामने चले लात-घूंसे

Mukesh Hingar | Publish: Apr, 16 2018 01:34:26 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

-२८वें दंगल के अंतिम दिन रविवार को दो पहलवानों के बीच ऐसा दंगल हुआ कि सांसद व विधायक की उपस्थिति में दोनों पक्ष एक दूसरे पर लात-घूंसे चला बैठे।

उदयपुर . लक्ष्मण पहलवान स्मृति समिति की ओर से आयोजित २८वें दंगल के अंतिम दिन रविवार को दो पहलवानों के बीच ऐसा दंगल हुआ कि सांसद व विधायक की उपस्थिति में दोनों पक्ष एक दूसरे पर लात-घूंसे चला बैठे। पुरुष केसरी खिताब के लिए अलवर के अनिल भीम व अजहरुद्दीन के बीच मुकाबला चल रहा था। भीम को अजहरुद्दीन की ओर से धक्का लगा वह रिंग से बाहर जा गिरा। इसके बाद दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने हो गए और एक दूसरे पर लात-घूंसे चलाए। तनावपूर्ण माहौल में दोनों पक्षों को समझाइश से शांत किया।

 

READ MORE : video : उदयपुर के पार्षद ने बोल दी गृहमंत्री के बारे में कुछ ऐसी बात

 

यूं चला घटनाक्रम
समझाइश के बाद फिर से खेल शुरू हुआ, लेकिन जब आखिरी १५ सैकंड शेष थे, अनिल भीम समय निकाल रहा था, इस पर रैफरी के समक्ष अजहरुद्दीन ने आपत्ति जताई कि भीम खुलकर सामने नहीं आ रहा। जैसे ही १५ मिनट पूरे हुए तो अजहरुद्दीन ने हाथ-जोड़ रैफरी से न्याय की गुहार की। उसने कहा यह कबड्डी नहीं कुश्ती है, इसमें खुलकर सामने आना होता है। रिंग के अंदर भीम को रैफरी ने विजेता घोषित कर दिया। दस मिनट के फाइनल मुकाबले में दोनों के बीच कांटे की टक्कर रही। इससे पहले दोनों एक दूसरे की अंगुलियां पकड़ रहे थे, कई बार रैफरी ने उन्हें चेताया। तीन मिनट तक एक भी पाइंट नहीं था। थोड़ी देर में ही भीम ने उल्टी टांग मारकर चार अंक लिए। इसके बाद भीम समय निकाल रहा था। सिंगल पट पर अजहरुद्दीन ने तीन अंक लिये। सात मिनट तक चार तीन से टक्कर थी।


लक्ष्मण पहलवान स्मृति समिति की ओर से आयोजित २८वें दंगल के अंतिम दिन रविवार को पुरुष व महिला वर्ग में कांटे की टक्कर के मुकाबले हुए। अलवर के अनिल भीम ने अपने ही शहर के पहलवान अजहरुद्दीन को शिकस्त देकर राजस्थान-मध्यप्रदेश केसरी के खिताब पर कब्जा जमाया। अजहरुद्दीन हाल में कॉमनवेल्थ खेलों में देश को कांस्य पदक दिला चुके हैं। साथ ही दो बार इसी प्रतियोगिता में केसरी विजेता रहे हैं। राजस्थान मध्यप्रदेश केसरी के तीसरे व चौथे स्थान के लिए अभिषेक पंवार इंदौर और आदित्य, कोटा के बीच मुकाबला हुआ, जिसमें अभिषेक विजेता रहे। राजस्थान-मध्यप्रदेश केसरी खिताब के विजेता को 31 हजार रुपए व चांदी की गुर्ज, उपविजेता को 15 हजार रुपए और शील्ड, तृतीय को पांच हजार रुपए व शील्ड और चतुर्थ को तीन हजार रुपए व शील्ड प्रदान की गई। दंगल के अन्तिम दिन राजस्थान कुश्ती संघ के अध्यक्ष सीपी सिंह भी मौजूद रहे।

 

बसंत वर्ग में आमिन विजेता
50 किलो राजस्थान-मध्यप्रदेश बसंत में महेंद्र उदयपुर और झुंझुनंू के आमिन ( 2016 में वल्र्ड गोल्ड मेडलिस्ट स्कूल वर्ग) के बीच मुकाबला हुआ, जिसमें आमिन बाई फॉल से जीते। उदयपुर के हिमांशु व उज्जैन के अर्जुन के बीच राजस्थान-मध्यप्रदेश बसंत वर्ग में तीसरे और चौथे स्थान के लिए मुकाबला हुआ। इसमें हिमांशु विजेता रहे। बसंत विजेता को शील्ड व पांच हजार रुपए और दूसरे स्थान पर रहे पहलवानों को तीन हजार, तृतीय को दो व चौथे स्थान पर रहे पहलवान को एक हजार रुपए व शील्ड दी गई।

 

निर्मल बने राजस्थान-मध्यप्रदेश किशोर
60 किलो ग्राम राजस्थान-मध्यप्रदेश किशोर खिताब के लिए सुनील विश्नोई भीलवाड़ा और निर्मल विश्नोई में मुकाबला हुआ। सुनील हाल में दंगल फिल्म में पहलवान का रोल कर चुके हैं। इसमें टांगड़ी और डबल व सिंगल डेक से निर्मल ने अंक लिए। अंत में कलाजंग दांव लगाकर जीत दर्ज की। किशोर वर्ग में शुभम तीसरे और मनोज चौथे स्थान पर रहे। किशोर विजेता को 7000 और शील्ड, उपविजेता को चार हजार, तृतीय 2500 व चौथे स्थान पर एक हजार रुपए व शील्ड दी गई।

 

कुमारी वर्ग में मनीषा विजेता
50 किग्रा राजस्थान-मध्यप्रदेश कुमारी वर्ग के खिताबी मुकाबले में मनीषा माली भीलवाड़ा ने अपने ही शहर की अंजलि साहू को मात दी। वर्षा उदयपुर तीसरे और गीतिका पुर भीलवाड़ा चौथे स्थान पर रही। विजेता को चार हजार रुपए व शील्ड, उपविजेता 2500 और तीसरे व चौथे को क्रमश: 1500 व एक हजार दिए गए।

 

लादू को राजस्थान-मध्यप्रदेश कुमार खिताब
70 किलोग्राम राजस्थान-मध्यप्रदेश कुमार खिताब के लिए मुकाबले में लादू जाट ने बबलू गुर्जर भीलवाड़ा को शिकस्त दी। वकील अलवर तीसरे और विष्णु चाहर भरतपुर चौथे स्थान पर रहे। कुमार विजेता को चांदी गुर्ज और 11 हजार रुपए, उपविजेता को पांच हजार नगद व शील्ड, तृतीय को तीन और चतुर्थ स्थान में 1500 रुपए नगद व शील्ड दी गई।

 

महिला केसरी - इन्दौर की रानी
50 किलो ग्राम महिला केसरी वर्ग में चित्तौडग़ढ़ की सावित्री छीपा और इंदौर की रानी राणा के बीच मुकाबला हुआ, जिसमें रानी राणा विजेता रही। रानी ने जैसे ही सावित्री को पट उखाड़ के मारा वह चोटिल हो गई। कुछ देर तक सावित्री अखाडे़ में लेटी रही। इसी वर्ग में तीसरे चौथे स्थान के लिए मुकाबले में अपूर्वा वैष्णव इंदौर ने लक्ष्मी भीलवाड़ा का आसमान दिखाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned