5 बेटियों को मजदूरी कर के पाला, 3 की कराई शादी, चौथी बेटी की शादी से पहले आया हार्ट अटैक...अब पिता को बचाने के लिए बेटियों ने किया ये काम

5 बेटियों को मजदूरी कर के पाला, 3 की कराई शादी, चौथी बेटी की शादी से पहले आया हार्ट अटैक...अब पिता को बचाने के लिए बेटियों ने किया ये काम

Madhulika Singh | Updated: 02 Jun 2017, 02:22:00 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

पिता के इलाज के लिए बेटी ने शादी के लिए जमा किए दो लाख रुपए लगाए लेकिन अभी 2 लाख की और जरूरत, 10 जून को छोटी बहन की शादी

बिहार के सिवान जिले में कल्लुआ की रहने वाली पुष्पा ने हिम्मत कर अपनी बहिन की शादी होने से पहले पिता का इलाज तो करवा दिया। उपचार के लिए अभी दो लाख रुपए की और जरूरत होने से उसकी हिम्मत जवाब दे रही है। बीमारी से लाचार पिता के उपचार के लिए अब उसे भामाशाहों से सहयोग की उम्मीद है।



शहर के गीतांजलि अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग की गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती बिहार के राधेश्याम कुशवाह करीब तीस साल से आबूरोड के आकराभट्टा में रह रहे हैं। मजदूरी कर उन्होंने अपनी पांच बेटियों में से तीन की शादी करवाई। चौथी बेटी की 10 जून की होने वाली शादी के लिए तैयारियां कर रहे थे। इस बीच,15 मई को राधेश्याम को हार्ट अटैक आया। पुष्पा उन्हें उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में ले गई। दूसरे नंबर की बेटी पुष्पा अपने पति के साथ ही पिता के पास रह रही थी। आठ दिन उपचार के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। परिचितों के कहने पर पुष्पा पिता के मना करने के बावजूद उपचार के लिए उदयपुर ले आई। सरकारी अस्पताल में सही सलाह नहीं मिलने पर वह पिता को 25 मई की गीतांजलि अस्पताल में गई, जहां 30 मई को उनका ऑपरेशन हुआ। उसने शादी में खर्च के लिए रखे रुपए तथा अन्य परिचितों से मिले सहयोग से दो लाख रुपए उपचार के लिए जमा करवा दिए। अब करीब दो लाख रुपए और खर्च होने की बात सामने आने से पुष्पा के पांव तले जमीन खिसक गई। इसके चलते  पुष्पा की निगाहें मददगार को ढूंढ़ रही है।  



READ MORE: भीम की बेटी के हाथ रहेगी सरकार की हुकूमत



बेटी की शादी जरूरी इलाज नहीं

राधेश्याम अटैक आने के बाद आगे के उपचार कराने के लिए तैयार नहीं था। वह गांव जाकर अपनी पुत्री खुशबू की शादी में शरीक होना चाहता था, लेकिन पुष्पा ने हौसला रख कर इलाज करवाया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned