जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वालों का व्यवहार ठीक नहीं, अतिरिक्त राशि भी लेते तो निगम ने उठाया कदम

जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र अब नगर निगम के अंदर बनेंगे, उदयपुर में लिंक रोड से अंदर शुरू किया काम

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 27 Jul 2020, 11:17 PM IST

उदयपुर. उदयपुर में जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने की प्रक्रिया संपादित करने वाले डेस्क को हेल्पलाइन कार्यालय से नगर निगम अंदर शिफ्ट कर दिया गया है।
निगम उप महापौर पारस सिंघवी ने बताया कि जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने का कक्ष कई वर्षों से हेल्पलाइन कार्यालय में ही संचालित किया जा रहा था । लोगों की सुविधा हेतु एवं निगम कार्यालय में अनावश्यक भीड़ नहीं इकट्ठी हो इसको लेकर यह व्यवस्था हेल्पलाइन कक्ष में संपादित करवाई जा रही थी। लेकिन पिछले कुछ समय से नगर निगम महापौर गोविंद सिंह टाक एवं स्वयं उपमहापौर को कार्यालय कर्मियों के व्यवहार को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थी। लोगों द्वारा शिकायतों में बताया जा रहा था कि प्रमाण पत्र बनवाने में 2 महीने से भी ज्यादा का समय लग रहा है, एवं कभी-कभी अतिरिक्त राशि वसूलने की शिकायतें मिल रही थी। इसी को लेकर नगर निगम उप महापौर सिंघवी ने सोमवार को स्वास्थ्य अधिकारी सत्यनारायण शर्मा को निर्देश दिए कि जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वाले सभी कर्मियों को तुरंत स्वास्थ्य शाखा के पास स्थानांतरित किया जाए।

उदयपुर में अब रात 9 से सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन लागू, बाजार रात 8 बजे बंद होंगे

स्वास्थ्य अधिकारी शर्मा एवं स्वास्थ्य निरीक्षक सुभाष शर्मा द्वारा तुरंत कार्यवाही कर प्रमाण पत्र बनाने वाले कार्यालय को स्वास्थ्य शाखा कार्यालय के पास स्थानांतरित कर दिया गया। भविष्य में जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वाले निगम कार्यालय के अंदर संपर्क करें।

Show More
Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned