video : आकार लेने लगा इंटरनेशनल स्टेण्डर्ड और 891 करोड़ का यह पूरा प्रोजेक्ट, इसे देखने आपको उदयपुर आना होगा..

Madhulika Singh | Publish: May, 14 2019 06:17:53 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

नवम्बर तक 891 करोड़ का यह पूरा प्रोजेक्ट पूरा कर लिया जाएगा।

चंदनसिंह देवड़ा/ प्रमोद सोनी. उदयपुर. एनएचएआई द्धारा 24 किलोमीटर लम्बे देबारी-काया सिक्सलेन निर्माण के तहत देबारी में इंटरनेशनल स्टेण्डर्ड का ग्रेट सेपरेटर चौराहा बनाया जा रहा है जिसका करीब 70 फीसदी काम पूरा हो चुुका है। नवम्बर तक 891 करोड़ का यह पूरा प्रोजेक्ट पूरा कर लिया जाएगा। इस ग्रेट सेपरेटर चौराहे में दो हाफ फ्लोवर लीप बनाए जा रहे हैंं जो एनएच-76 और एनएच-8 को जोड़ेगा। प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुनील यादव ने बताया कि इस प्रोजेक्ट में सबसे खास बात यह है कि दो हाईवे मिलने के बावजूद इस पर सुलभ ट्राफिक संचालन हो इसका खास ध्यान रखा गया है। सद्भाव उदयपुर हाईवे प्राइवेट लिमिटेड कंम्पनी इसका कंस्ट्रक्शन कर रही है इसकी निगरानी के लिए आरवी एसोसिएट्स नाम की एजेंसी को लगा रखा है। सद्भाव के प्रोजेक्ट मैनेजर कुलदीप कुमार दीक्षित ने बताया कि इस चौराहे में प्रीे और पोस्ट ट्रेचिंग गडर को उपयोग मेंं लिया जा रहा है। झरनो की सराय में रेलवे अंडर ब्रिज को कंपोजिट स्टील गडर में बनाया जाएगा। देबारी से काया तक पूरा रोड पीक्यूसी(सीमेंट-कोंक्रिट) में बनेगा जिसका मेंटेनेंस कम आएगा।

फैक्ट फाइल..........

देबारी ग्रेट सेपरेटर चौराहा

काम शुरू- 30 नवम्बर 2017

काम पूरा होगा- 29 नवम्बर 2019

लम्बाई-405 मीटर

परिधि- 65 बीघा

हाफ फ्लोवर लीप- 02

लागत- 60 करोड़

पीलर- 14

आरओबी- 1 प्री कास्टींग बॉक्स गडर 45 मीटर

इंजीनियर- 15

मशीनरी- 150 टन की 2 क्रेन

तकनीक-इंटरनेशनल स्टेंण्डर्ड पर प्री एवं पोस्ट ट्रेचिंग गडर का उपयोग, पीक्यूसी रोड़ 30 एमएम थिकनेस से बनेगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned