पशु चिकित्सालय का अधिगृहण करने की मांग, डॉ पोसवाल ने लिखा पत्र

- आइसोलेशन के लिए अनिवार्य - सरकार ने पहले ही जारी कर रखे हैं आरएनटी में मिलाने के आदेश

By: bhuvanesh pandya

Published: 23 Apr 2020, 10:09 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. मेडिविजन टीम उदयपुर ने राष्ट्रीय संयोजक डॉ कुंवर आकाश सिंह के नेतृत्व मे आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ लाखन पोसवाल को कोरोना महामारी के इस दौर में अलग से आइसोलेशन के लिए पशु चिकित्सालय का अधिगृहण करने की मांग की है। ये वहीं परिसर है जिसे पूर्व में राज्य सरकार द्वारा मेडिकल कॉलेज में मिलाने का आदेश जारी कर दिया था। चिकित्सकों ने कोरोना संक्रमण आइसोलेशन केंद्र बनाने की मांग की है। इस मौके पर डॉ जयदीप सिंह, डॉ विष्णु प्रताप, डॉ सोहन लाल पारगी, डॉक्टर चंद्रप्रकाश शर्मा मौजूद थे। ज्ञापन में बकायदा सोशियल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया।

-----
डॉ पोसवाल ने लिखा पत्र आरएनटी प्राचार्य डॉ लाखन पोसवाल ने पशु चिकित्सालय के अधिग्रहण को लेकर सोमवार को चिकित्सा शिक्षा के शासन सचिव को पत्र भेजा है। पत्र में उन्होंने उल्लेख किया है कि सुपर स्पेशलिटी भवन का वर्तमान में उपयोग इस कोविड-19 की आपदा के लिए किया जा रहा है, लेकिन सुपर स्पेशलिटी सेवा शुरू होने और भविश्य में किसी भी महामारी या संक्रमण वाली आपदा के लिए आरएनटी मेडिकल कॉलेज के पास कोई भवन नहीं रहेगा। पोसवाल ने बताया ह ैकि मध्यप्रदेश व गुजरात से भी किसी भी विपदा पर इस हॉस्पिटल को तैयार होना पड़ता है, ऐसे में फिलहाल पृथक भवन बनाने की भी भूमि उपलब्ध नहीं है।

-----

पहले हमारी जमीन ली है..

.पोसवाल ने पत्र में लिखा है कि इससे पहले दिल्ली गेट से चेतक सर्कल तक सड़क को चौड़ा करने के लिए मेडिकल कॉलेज की भूमि को अधिगृहित किया गया था, इसके बाद आरएनटी कॉलेज को इस पशु चिकित्सालय की भूमि अपने अन्दर लेने के आदेश भी किए गए थे। साथ ही कॉलेज की अधिगृहित भूमि की एवज में भूमि व मुआवजा देने के लिए आरयूडीपीआई ने भी अपनी बैठक में निर्णय लिया था। इसे लेकर पोसवाल ने मांग की है कि ये भवन आरएनटी को हस्तान्तरित किया जाए।

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned