1 Year Of Demonetization : उदयपुर में TOURISM पर नोटबंदी के साथ GST भी पड़ी भारी...

1 Year Of Demonetization : उदयपुर में  TOURISM पर नोटबंदी के साथ GST  भी पड़ी भारी...

Mukesh Hingar | Publish: Nov, 02 2017 03:37:00 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

नोटबंदी का असर झीलों की नगरी के पर्यटन व्यवसाय पर

मुकेश हिंगड़/ उदयपुर . नोटबंदी को एक साल होने वाला है और इस दरम्यान इसका असर झीलों की नगरी के पर्यटन व्यवसाय भी पड़ा है। इससे उबरने से पहले जीएसटी ने टूरिस्ट सीजन को प्रभावित कर दिया है। दोनों बड़े आर्थिक बदलावों ने पर्यटकों की जेब तंग करने के साथ खरीदारी से हाथ खींच दिए है। कारोबार से जुड़े लोगों और व्यापारियों का कहना है कि मौजूदा सीजन में टूरिस्ट के आने का ग्राफ भले नहीं गिरा हो, लेकिन यह भीड़ खरीदारी में दिलचस्पी कम दिखा रही है। नोटबंदी के बाद एक साल के असर पर राजस्थान पत्रिका ने पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों से बात की। सब बोले कि नोटबंदी का असर तत्कालीन व्यापार और पर्यटकों पर नवंबर से जनवरी तक दिखा। पर्यटकों को शॉपिंग में परेशानी हुई, क्योंकि एटीएम से कैश निकालने या खर्च करने में हाथ तंग रहा। जैसे-तैसे गाड़ी ट्रैक पर आई, फिर जीएसटी की मार पड़ गई। सुस्त पड़े टूरिज्म में सीजन से उम्मीदें लगीं। इस बार खासे पर्यटक आए भी, लेकिन व्यापारियों के अनुसार बाजार में गर्मी नहीं आई।

बहुत असर हुआ है। नोटबंदी से कुछ उबर पाते, उससे पहले जीएसटी लागू कर दिया। इससे आज भी उबर नहीं पाए हैं। पर्यटकों की तादाद तो कम नहीं हुई लेकिन वह खरीदारी नहीं कर रहा है। बाजार में इस बार पर्यटकों में उत्साह नहीं है। हैंडीक्राफ्ट की करीब 400 दुकानें हैं और सब पर व्यापार प्रभावित हुआ है।

गजेन्द्र भंसाली, अध्यक्ष, उदयपुर हैंडीक्राफ्ट एसो.

कारोबारियों की जुबानी
नोटबंदी के समय तो परेशानी हुई थी। उस समय नवंबर-दिसम्बर महीने में यहां आने वाले विदेशी पर्यटकों की करेंसी एक्सेंज में बड़ी दिक्कत आई और वे परेशान हुए। उस समय से ज्यादा परेशानी अभी जीएसटी से है, टैक्स को लेकर कई संशय की स्थितियां हैं। देसी-विदेशी दोनों पर्यटक प्रभावित हुए हैं। पड़ोसी देश श्रीलंका, थाईलैंड, वियतनाम में पांच प्रतिशत टैक्स है और हमारे यहां 28 प्रतिशत, फिर विदेशी पर्यटक भारत क्यों आएगा। रेस्टोरेंट में 18 प्रतिशत टैक्स लगाने का भी बड़ा नुकसान हो रहा है, स्थानीय लोग भी रेस्टोरेंट में जो भीड़ रहती थी वह कम हो गई है।

विश्वविजय सिंह, होटल उद्यमी

 

READ MORE: PICS: हम विदेशी फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी, इस शख्स को जिसने देखा, देखता रह गया

 

नोटबंदी का इस साल असर नहीं है, गत वर्ष में लागू होते ही असर दिखने को मिला। जीएसटी का प्रभाव जरूर दिखने को मिल रहा है। बाजार में टैक्स ज्यादा होने से शॉपिंग पर असर आया है, हैंडीक्रॉफ्ट व्यापारियों की स्थिति बहुत खराब हुई है।
कोमल, अध्यक्ष, गाइड एसोसिएशन


बहुत फर्क पड़ा है, उस समय तो बहुत परेशानी सामने आई। आज के समय में जीएसटी ने परेशानी बढ़ाई है। पर्यटक की जेब पर भार बढ़ा और गाइड बाहर के पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों को लेकर जाता है तो उसकी जेब पर भी रेस्टोरेंट में बढ़ा टैक्स का भार पड़ता है।
भूपेन्द्रसिंह राणावत, गाइड


नोटबंदी का बड़ा असर रहा है, अभी भी फर्क है, नोटबंदी और जीएसटी के चलते पर्यटकों ने पॉकेट खाली नहीं किया जबकि हर बार ऐसा नहीं होता है।

इकबाल, गाइड

tourists in udaipur

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned