देश के लिए लड़ते हुए शहीद हुआ हमारा सैनिक लेकिन दुर्भाग्य है कि शहीद के घर में बिजली नहीं पहुंचा पाए हम..

देश के लिए लड़ते हुए शहीद हुआ हमारा सैनिक लेकिन दुर्भाग्य है कि शहीद के घर में बिजली नहीं पहुंचा पाए हम..

Mukesh Hingar | Publish: Nov, 21 2017 03:23:29 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India


जिला परिषद की बैठक में बोले विधायक...

उदयपुर . जिला परिषद की साधारण सभा की सोमवार को हुई बैठक में सदस्यों ने बिजली व सडक़ों का मुद्दा उठाया तो ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा ने उन्दरी में एक शहीद के घर में बिजली का कनेक्शन नहीं देने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यह हमारा दुर्भाग्य है कि हम इतना छोटा काम नहीं कर सके तो क्या मतलब है? जिला परिषद सभागार में हुई बैठक में मीणा ने सवाल उठाया कि उन्दरी गांव का सैनिक रतनलाल देश के लिए लड़ते हुए शहीद हुआ। दीनदयाल ज्योति योजना के तहत उसके घर पर बिजली कनेक्शन करना है, लेकिन अब तक वहां बिजली नहीं पहुंचा सके। मीणा ने कहा कि काफी प्रयासों के बाद बिजली कनेक्शन की बात बनी तो वन विभाग ने नियमों का हवाला देते हुए अडंगा लगा दिया। मीणा ने कहा कि नियम-कानून हो सकते हैं लेकिन ऐसे मामलों में रास्ता निकाल कर शहीद को सम्मान देने के लिए काम करना चाहिए था।

 

एसई साहब किसानों को गुमराह मत करो : बैठक में विधायक मीणा ने किसानों को बिजली कनेक्शन देने का मामला उठाते हुए कहा कि जहां ट्रांसफॉमर्र लगाने की जरूरत है, वहां यह कार्य जल्दी किया जाए। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि एसई साहब किसानों को गुमराह करने के बजाय असल कारण बता दिया करें। बैठक में उन्होंने वन विभाग को सुझाव दिया कि पहाड़ों व अन्य खाली जगह पर सीताफल के पौधे लगाए जाएं ताकि वन उपज भी बढ़ेगी और आदिवासियों को रोजगार भी मिलेगा। बैठक में विधायक दलीचंद डांगी, अमृतलाल, नानालाल अहारी आदि सहित जिला परिषद सदस्यों ने भी कई मुद्दा उठाए।

 

READ MORE: SCHOOL OLYMPICS 2017: खेलों के महाकुंभ का हुआ आज आगाज, देखें तस्वीरें


भीलवाड़ा में धंधे से मन को हटा यहां लगाओ

बैठक में बिजली के मुद्दे के दौरान ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा ने बिजली निगम के एसई एस.के. सिन्हा से कहा कि एसई साहब आपका भीलवाड़ा में बिजनेस (धंधा) है तो क्या हुआ, नौकरी तो करनी पड़ेगी, आप मन उदयपुर में काम करने में लगाओ। मीणा ने कहा कि मन यहां लगाओंगे तो लोगों व किसानों की समस्या दूर होगी। बाद में पत्रिका से बातचीत में मीणा ने कहा कि उन्होंने ऐसा इसलिए कहा कि उनका मन नहीं लग रहा तो यहां काम प्रभावित हो रहा है, मीणा ने कहा कि नौकरी करनी है तो काम तो करना होगा, उन्होंने तो इतना कहा कि वे बरसों से भीलवाड़ा में जमे है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned