आज निकलेगी 54 दिव्यांगों की बिंदोली... वंचित जोड़े बंधेंगे परिणय सूत्र में

आज निकलेगी 54 दिव्यांगों की बिंदोली... वंचित जोड़े बंधेंगे परिणय सूत्र में

Krishna Kumar Tanwar | Publish: Sep, 08 2018 11:00:00 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

 

प्रमोद सोनी/उदयपुर. नारायण सेवा संस्थान के लियों का गुड़ा, बड़ी में दो दिवसीय दिव्यांग निर्धन सामूहिक विवाह का आयोजन शनिवार व रविवार को होगा। जिसमें भामाशाह समान एवं निशुल्क दिव्यांग तथा निर्धन सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन होगा। जिसमें 54 जोड़े विवाह सूत्र में बंधेगें। यह जानकारी शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने दी।उन्होनें ने बताया कि विवाह रस्मों-रिवाज के साथ पूरे किए जाएंगे। विवाह बंधन में बंध रहे जोड़ों में से अधिकतर ऐसे हैं, जिन्होंने संस्थान में अपनी विकलांगता के लिए निशुल्क सुधारात्मक सर्जरी करवाई है। और यहीं प्रशिक्षण पूरा किया है।
अग्रवाल ने बताया कि विवाह के लिए जोड़ों से कोई राशि नहीं ली जाती है।बल्कि आजीविका चलाने के लिए उनकी पूरी सहायता की जाती है। ताकि वे विवाह के बाद अपना नया जीवन बेहतर तरीके से शुरू कर सके।उन्होने बताया की शनिवार को शाम 5 बजे दुल्हा- दुल्हनों की बिंदौलियां निकलेंगी। इसमें बाराती बने परिजन और देशभर से आने वाले संस्थान के सहयोगी अतिथि व जन समुदाय नाचते-गाते चलेंगे। रविवार को सुबह 10 बजे बड़ी स्थित नारायण सेवा संस्थान पर तोरण और वरमाला की रस्म के साथ पाणिग्रहण संस्कार होगा।

 

READ MORE : वत्स द्वादशी पर की बछड़े और गाय की पूजा.. लाड़लों की मांगी लंबी आयु.. देखें तस्वीरें

 

यह होंगे मांगलिक कार्यक्रम
यह जानकारी शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने दी अग्रवाल ने बताया कि समारोह के पहले दिन शनिवार को सुबह 10 बजे गणपति स्थापना,10.15 बजे भामाशाह समान समारोह का आयोजन किया जाएगा। सुबह 11.30 बजे मेंहदी की रस्म होगी और शाम 5 बजे बिन्दौली निकाली जाएगी। रविवार को सुबह 10 बजे तोरण की रस्म अदा की जाएगी। सुबह 11 बजे वरमाला एवं पाणिग्रहण संस्कार का आयोजन होगा। व अपरान्ह 3 बजे विदाई की रस्म अदा की जाएगी। प्रेसवार्ता में निदेशक देवेन्द्र चौबीसा, मीडिया प्रभारी विष्णु शर्मा हितैषी, दीपक मेनारिया एवं रजत गौड़ भी उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned