डॉक्‍टर की लापरवाही से प्रसूता की जान पर बन आई, ऑपरेशन के बाद शरीर में छोड़ा रूई का गट्टा, रात भर तड़पी

MB Hospital Udaipur, पन्नाधाय राजकीय जनाना चिकित्सालय Pannadhay Hospital

By: madhulika singh

Updated: 01 Jul 2019, 02:59 PM IST

भुवनेश पंड्या/ उदयपुर. संभाग के सबसे बड़़े़े एमबी अस्‍पताल MB hospital udaipur के पन्नाधाय राजकीय जनाना चिकित्सालय Pannadhay hospital के चिकित्सकों एवं स्टाफकर्मियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। प्रसव के बाद उसके शरीर में रूई का गट्टा छोडकऱ टांके लगा दिए गए। प्रसूता व परिजन दो दिन के बाद घर चले गए, लेकिन अगली रात भर प्रसूता दर्द से तड़पती रही और उसका मूत्र रुक गया। ऐसे में पुत्र जन्म की खुशी काफूर हो गई और उसकी जान पर बन आई। परिजन प्रसूता को लेकर फिर से चिकित्सालय पहुंचे तो टांके खोलकर रूई निकाली गई।

यह है मामला

बिछड़ी निवासी भावना सेन को 22 जून को जनाना चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था। उसके पति श्यामलाल सेन ने बताया कि अगले दिन रविवार सुबह नौ बजे सामान्य प्रसव हुआ। सोमवार शाम को उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। दो दिन के बाद बुधवार रात पेट दर्द बढऩे के साथ ही मूत्र रुक गया। ऐसे में परिजन उसे लेकर परिजन चिकित्सालय पहुंचे। चिकित्सालय में जब टांके खोले गए तो रूई का एक बड़ा गट्टा बाहर निकाला गया। उसे दो दिन फिर भर्ती रखने के बाद डिस्चार्ज किया गया।

 

पहले भी हुए हैंं कई वाकिये
- कुछ दिन पूर्व एक महिला रेजिडेंट चिकित्सक द्वारा प्रसूता को चांटा मारने व अभद्रता करने का मामला सामने आया था।

- एक अन्य मामला सोश्यल मीडिया पर खूब छाया रहा, जिसमें एक रेजिडेंट की ओर से प्रसूता को कैंची चुभाने व चांटा मारना सामने आया। मामले में कलक्टर की दखल पर रेजिडेंट को जनाना से हटाया गया।

 

यह लापरवाही गंभीर है। जल्द पूरे मामले की जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।
डॉ मधुबाला चौहान, अधीक्षक जनाना हॉस्पिटल उदयपुर

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned