ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों का असर, रात को ड्यूटी करने से कतराने लगे हैं कर्मचारी तीन माह में 30 ट्रांसफार्मर हुए चोरी

ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों का असर, रात को ड्यूटी करने से कतराने लगे हैं कर्मचारी तीन माह में 30 ट्रांसफार्मर हुए चोरी

Kapil Soni | Updated: 09 Jan 2018, 01:44:13 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

- क्षेत्र में विद्युत ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को लेकर अजीब से हालात बनने लगे हैं।

गोगुन्दा. क्षेत्र में विद्युत ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को लेकर अजीब से हालात बनने लगे हैं। पिछले तीन माह में लगातार हो रही ट्रांसफार्मर चोरी और लूट की वारदातों से निगम कर्मचारी आहत हो गए हैं। बीते तीन माह में 30 से ज्यादा ट्रांसफार्मर चोरी हो चुके हैं।

 

READ MORE : गोगुंदा के पावर हाउस में वारदात विद्युतकर्मी सहित तीन को पीटा, बंधक बना 15 डीपी से तांबा-तेल ले गए चोर

 

पॉवर हाउस पर 6 जनवरी को हुई चोरी और मारपीट के बाद जीएसएस पर कोई कर्मचारी रहने को तैयार नहीं है। गोगुन्दा जीएसएस में 6 जनवरी को चोरों ने कर्मचारी सहित तीन को बंधक बनाकर मारपीट की। एक दर्जन से अधिक ट्रांसफार्मर को तोडक़र कॉपर, ऑयल ले गए। इसी जीएसएस पर 15 नंवबर को चोरों ने 10 ट्रांसफार्मर से कॉपर व ऑयल लूटा था। इसी तरह 12 दिसम्बर को जसवंतगढ़ जीएसएस पर 7 ट्रांसफार्मर को नुकसान पहुंचाया। दिसबंर में सायरा के पदराड़ा जीएसएस में रखे 10 ट्रांसफार्मर चोरी हुए। झालों का गुढ़ा से 12 दिसम्बर को एक ट्रांसफार्मर, 13 को सौंलकी घाटी से 3 ट्रांसफार्मर, 15 को वणी गांव से 3 ट्रांसफार्मर, 17 को मजावड़ी से 1 ट्रांसफार्मर से कॉपर व ऑयल चोरी हुआ था। कर्मचारियों ने बताया कि एक डीपी में से 20 किलो कॉपर और ऑयल होता है, वहीं नए ट्रांसफार्मर की कीमत करीब 70 हजार रुपए होती है।

 

नहीं मिलता पुलिस का सहयोग
निगम इंजीनियरों ने बताया कि कई बार ट्रांसफार्मर चोरी की रिपोर्ट लिखवाने में भी परेशानी होती है। पुलिस सहयोग नहीं करती। वर्तमान में दो बार ऑनलाइन एफआईआर दर्ज करवानी पड़ी। आंकड़े और ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों से संदेह होता है कि चेारी में विभागीय ठेकेदारों और कर्मचारियों की मिलीभगत है। पिछले दिनों ओगणा थाना की ओर से चोरी के मामले में पुलिस ने सम्बधित ठेकेदार के लोगों को पकड़ा था।

 

जल्द हो वारदात का खुलासा
गोगुन्दा. पॉवर हाउस में शनिवार को कर्मचारी सहित तीन को बंधक बनाकर मारपीटकर 15 ट्रांसफार्मर में से कॉपर व ऑयल चुराने के मामले में ग्रामीणों और निगम कर्मचारियों ने उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन दिया। वारदात का खुलासा शीघ्र करने की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि कस्बे के मध्य बने पॉवर हाउस में चोरी की यह दूसरी वारदात है। कस्बे में ट्रांसफार्मर चोरी की कई वारदाते हो चुकी है। आए दिन पशुधन भी चोरी हो रहा है। दुकानों में भी चोरियां हो रही है। पुलिस किसी भी वारदात का खुलासा नहीं कर पाई है।

 

ग्रामीणों ने कस्बे मे रात्रि गश्त बढ़ाने की मांग की है। निगम कर्मचारियों ने बताया कि रिपोर्ट लिखवाने में भी दिक्कतें होती है। इस मौके पर सरपंच गागुलाल मेघवाल, उपसरपंच दयालाल चौधरी, भाजपा मण्डल अध्यक्ष प्रकाश पुरोहित, रामलाल पुरोहित, नाथूलाल भोई, जगदीश पुरोहित, निगम के कनिष्ट अभियंता रोहितसिंह, कर्मचारी संघ अध्यक्ष विक्रम प्रजापत, विश्वास, बाबूलाल गायरी, हरदयालसिंह मौजूद थे।

 

जीएसएस पर हुई कर्मचारी से मारपीट और ट्रांसफार्मर चोरी के मामले में सम्बधित विभाग के ठेकेदारों की भूमिका संदिग्ध है, जिनसे भी पूछताछ की जा रही है। मोबाइल लोकेशन सहित सीसीटीवी कैमरों के फुटजे भी खंगाले जा रहे हैं। शीघ्र ही वारदात का खुलासा होगा। गंावों में होने वाली एक ट्रांसफार्मर की चोरी में तो लोकल के होने की संभावना है। विभाग की ओर से रिपोर्ट देने पर मामला दर्ज कर लिया जाता है।

-भंवरलाल विश्नोई, थानाधिकारी, गोगुन्दा थाना

 

क्षेत्र में जीएसएस पर पिछले कुछ माह में ट्रांसफार्मर तोडक़र कॉपर-ऑयल चोरी की वारदातों में बढ़ोतरी हुई है। अतिरिक्त सुरक्षा के लिए विभाग के उच्च अधिकारियों को प्रस्ताव भेजेंगे।

-एस. माली, एईएन, विद्युत विभाग, गोगुन्दा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned