कला और संस्कृति प्रेमियों को रास आई प्रदर्शनी

विरासत संबंधित प्रदर्शनी का आज अंतिम दिन

उदयपुर . सूचना केन्द्र कला दीर्घा में भारतीय सांस्कृतिक निधि इन्टैक तथा सूचना केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में चल रही विरासत संबंधित चित्र प्रदर्शनी का सोमवार को समापन होगा। रविवार को भी बड़ी संख्या में लोगों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
भारतीय सांस्कृतिक निधि इन्टैक के उदयपुर चेप्टर के संयोजक डॉ. बीपी भटनागर ने बताया कि सात दिवसीय प्रदर्शनी में इंटेक की 35 साल की जीवन यात्रा (1984-2019) के साथ-साथ वागड़ अंचल में दसवीं शताब्दी के पुरातात्विक महत्ता के स्थान अरथूना की सांस्कृतिक विरासत पर प्रो. महेश शर्मा की ओर से सहेजे चित्रों को प्रदर्शित किया गया है। रविवारीय अवकाश होने से बड़ी संख्या में कला एवं संस्कृति प्रेमियों ने अवलोकन किया।

सुनील व्यास ने प्रदर्शनी का अवलोकन कराते हुए प्रदर्शित विषय वस्तु की जानकारी प्रदान की। वागड़-मेवाड़ की चित्रकला पर शोध कर रहे शोधार्थी कुशाग्र जैन ने एक हजार साल पुराने अरथूना के प्रस्तरशिल्प के चित्रों में दर्शायी गई शास्त्रीय नृत्य आधारित कलाकृतियों को अंचल की अनूठी धरोहर बताया। इसके संरक्षण के प्रयास की आवश्यकता जताई। गोपाल सिंह आसोलिया, जितेन्द्र त्रिवेदी, नीरज आमेटा, संस्कार शर्मा की मौजूदगी रही।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned