ओपन होम शेल्टर के बालको के लिए मांगी सुविधाएं

कोरोना के संकट में ईश्वर पर आश्रित बालक


उदयपुर. झाड़ोल - झाड़ोल तहसील क्षेत्र में लवीना विकास सेवा संस्थान द्वारा संचालित ओपन शेल्टर होम ओगणा में 27 निराश्रित बालक निवासरत हैं। इसमें छह बालकों को अवकाश पर परिजनों को सुपुर्द किया गया है। शेष 21 निराश्रित बालक वर्तमान में होम में मौजूद है। संस्थान निदेशक भरतकुमार पूर्बिया ने बताया कि बालकों के सेनेट्राइजेशन के लिए चिकित्साधिकारी, उपखण्ड अधिकारी, बाल कल्याण समिति, बाल आयोग, जिला प्रशासन एवं जयपुर स्तर तक के अधिकारियों से सम्पर्क व पत्राचार किया गया। लेकिन चिकित्साधिकारी से स्वास्थ्य परीक्षण के सिवाय कोई भी सुविधा नहीं मिल पा रही है, जबकी नियमानुसार मेडिकल टीम द्वारा होम में सेनिट्राइजेसन की सुविधा देना आवश्यक है, लेकिन अभी तक किसी प्रकार की सुविधा बच्चो को नही मिल पा रही है ।
इनका कहना है
लविना विकास संस्थान द्वारा संचालित ओपन होम शोल्टर में निवासरत में फिलहाल आस पास चिकित्सा विभाग में सेनीट्राइजेशन की व्यवस्था नही हो पा रही ह।ै फिलहाल ओगणा सीएचसी प्रभारी को बोल कर फंोकिग के लिए बोल दिया है।
सुरेश मेहता, तहसीलदार झाडो

Show More
surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned