video: लपटों और धुएं के गुबार में उलझी रही लोगों की ‘सांसें’, 20 दमकल वाहनों से पाया आग पर नियंत्रण

video: लपटों और धुएं के गुबार में उलझी रही लोगों की ‘सांसें’, 20 दमकल वाहनों से पाया आग पर नियंत्रण

Sushil Kumar Singh Chauhan | Updated: 18 Dec 2017, 05:28:06 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

जेनोक्स इंडिया एसेम्बलिंग कूलर कंपनी परिसर में देर रात एकाएक आग की लपटों एवं धुएं के गुबार से कॉलोनी में कोहराम मच गया।

 

उदयपुर . हिरण मगरी-उदियपोल न्यू लिंक रोड के किनारे माली कॉलोनी में बड़े भूभाग वाले अस्थायी बाड़े में संचालित जेनोक्स इंडिया एसेम्बलिंग कूलर कंपनी परिसर में देर रात एकाएक आग की लपटों एवं धुएं के गुबार से कॉलोनी में कोहराम मच गया। कई धमाकों के बीच बढ़ती हुई आग की सूचना पर सर्दी में दुबके हुए सो रहे लोग घरों की छतों पर चढ़ गए। करीब 20 दमकल वाहनों से आग पर नियंत्रण पाया गया।

आसमान छूती लपटें देखकर लोगों ने प्राथमिक एहतियात के तौर पर खुद का घर बचाने के जतन किए। साथ ही सूचना से पुलिस नियंत्रण कक्ष, थाना पुलिस और दमकल कार्यालय को सूचित किया। दमकल वाहनों के साथ पुलिस की सक्रियता वाले प्रयासों के बीच बेकाबू आग को रोकने के प्रयास किए गए। तभी रात करीब 1.45 बजे वेदांता गु्रप के दमकलकार्मिकों ने अपग्रेड वाहन के साथ मोर्चा संभाला और घंटों तक आग बुझाने में डटे रहे। स्थानीय लोगों की भीड़ भी मौके पर आ जुटी, हालांकि निर्धारित बाड़े में लगी हुई आग को लेकर कोई अफरा-तफरी का माहौल नहीं बना। इससे पहले आग देखकर परिसर में सो रहे कुछ कर्मचारी जान बचाकर मौके से भाग निकले। देर रात तक हुए पुलिस अनुसंधान में आग के कारणों का स्पष्ट खुलासा तो नहीं हुआ, लेकिन रंजिशवश बाड़े में आग लगाने की अफवाहें लोगों के बीच चर्चा की वजह बनी रही।

 

READ MORE : उदयपुर के एक होटल का मिनी जू हुआ पूर्णतया बंद, चीतल बाघदड़ा छोड़े बाघदड़ा नेचर पार्क में

 

आग बुझाने को प्राथमिकता दे रहे सूरजपोल थाना प्रभारी हेरम्भ जोशी, परसाद थानाधिकारी देवेंद्रसिंह की कंपनी मालिक कुणाल चौधरी से सीधे मुलाकात नहीं हो सकी। इस बीच में मालिक के पिता धनंजय चौधरी मौके पर पहुंचे। उनकी ओर से नुकसान का अंदाजा नहीं लगाया जा सका, लेकिन भाजयुमो शहर उपाध्यक्ष सनी पोखरना ने बताया कि नुकसान करीब करोड़ों में है। संबंधित कंपनी ऑफ सीजन में प्लास्टिक कुलर के कच्चे माल का दिल्ली से उदयुपर लाकर स्टोक करती है और एसेम्बलिंग कर गर्मी के दिनों में बाजार पर उतारती है। कयास के अनुसार नुकसान करीब 4 से 8 करोड़ के बीच में आंका गया।

fire in factory
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned