उदयपुर में बाहुबली के रूप में नजर आए गणपति, गणेश चतुर्थी को लेकर बाजार में भी उत्साह का माहौल

उदयपुर में बाहुबली के रूप में नजर आए गणपति,  गणेश चतुर्थी को लेकर बाजार में भी उत्साह का माहौल

Madhulika Singh | Publish: Sep, 12 2018 01:16:41 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

प्रमोद सोनी/उदयपुर. भगवान गणेश के जन्मोत्सव गणेश चतुर्थी में कल है। इस पर्व को लेकर शहरवासियों में जबरदस्त उत्साह है। शहर के प्रमुख मार्गों पर गणपति बप्पा की मूर्तियों की दुकानें भी सज गई हैंं। गणेश चतुर्थी पर शहर के गणेश मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना होगी। वहीं लोग अपने अपने घरों में भी प्रथम पूज्य गणपति बप्पा की मूर्तियों की स्थापना कर पूजा अर्चना करेंगे। बंग भवन में मुर्ति बनााने वाले कालाकारों ने मिट्टी की प्रतिमाएं बनाई हैंं। बंग समाज के पूूजा सचिव तपन राय ने बताया क‍ि उनके यहां मिट्टी की गणपति की विभिन्न प्रतिमाएंं बनाई गई। जिसमें विशेष ताैैर पर बाहुबली, बालशिव रूप की गणेश प्रतिमा बनाई गई है। उन्होंंने बताया की इन प्रतिमाओं पर इकाेे कलर किया गया है। ये गणेश प्रतिमाएं जिससे विजर्सन के समय तालाबों में प्रदूषण नहीं फैले। प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां नहीं बनाते हैं। इससे प्रदूषण फैलता है। मूर्तियों पर कलर भी पानी वाला किया हुआ है। यहां बनी बाहुबली की प्रतिमा डूंगरपुर जिले के लोगों ने बनवाई है।

 

READ MORE : खाकी की सख्ती पर बोले छात्र-'अंकल इससे बढि़या तो आप चुनाव ही मत करवाते'

 

उन्होंंने बताया की यह मिट्टी की प्रतिमाएं 5000 से 35000 रूपये तक बिकती है।इधर शहर के प्रमुख मंदिरो पर भी गणेशोत्सव को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैंं। शहर के बोहरा गणेशजी,चांदपोल बाहर जाड़ागणेश मंदिर, मल्लातलाई दूूधिया गणेशजी, दूूधतलाई मार्ग पाला गणेशजी, हाथीपोल मावा गणेशजी, खटीकवाड़ा स्थित पंचमुखी गणेशजी आदि मंदिरो पर पर्व को लेकर तैयारियों के तहत रंग-रोगन व विद्युत सज्जा की जा रही है। वहींं शहर के विभिन्न धार्मिक संगठनों में भी उत्सव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैंं। शहर मेंं जगह-जगह गणेशोत्सव को लेकर पांड़ाल बनने लगे हैंं। वहींं बाजार में भी जगह जगह गणेश प्रतिमाएं बिक रही हैंं। शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी काफी संख्या में खरीदारी के लिए पहुंच रहे हैं। यहां गणपति बप्पा की मूर्ति 100 रू से लगाकर हजारोंं रुपए तक की उपलब्ध है। बप्पा की विभिन्न रंगों में भी मूर्तियां उपलब्ध हैं जो अनायास ही लोगों को आकर्षित कर रही हैंंं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned