लेकसिटी में प्रमुख पर्यटन स्थलों पर रमेगी गवरी

लेकसिटी में प्रमुख पर्यटन स्थलों पर रमेगी गवरी

Mukesh Kumar Hinger | Publish: Sep, 04 2018 09:42:42 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

उदयपुर. लोक नृत्य गवरी की मेवाड़ में धूम शुरू होने के साथ ही अब सरकार ने भी यहां आने वाले पर्यटकों को गवरी दिखाने के लिए कवायद् शुरू की है। लेकसिटी में गवरी दिखाने को लेकर कार्य योजना बनाई गई है।
जिला प्रशासन एवं ट्रायबल एरिया ड्वलपमेंट (टीआरआई) के संयुक्त तत्वावधान में मेवाड़ के पारंपरिक लोक नृत्य गवरी को विशिष्ट पहचान दिलाने के उद्देश्य से शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर गवरी का मंचन किया जाएगा। टीआरआई निदेशक दिनेश चन्द्र जैन ने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 6 व 7 सितंबर को भारतीय लोक कला मण्डल, 17 व 18 सितंबर देवाली छोर स्थित फतहसागर की पाल के समीप और 27 व 28 सितंबर को सहेलियों की बाड़ी में गवरी का मंचन होगा।

READ MORE : हर साल दस बार गांवों में ‘जीवन-पाठ’ पढ़ाने जाएंगे भावी चिकित्सक, स्वास्थ्य विद्या वाहिनी कार्यक्रम की शुरुआत


गवरी की धूम चल रही गांव-गांव
मावली तहसील के सालेरा खुर्द गांव में पिछले दिनों गांव के ही भील समाज द्वारा मेवाड़ के लोकनाट्य गवरी का मंचन हुआ। मुकेश जाट ने बताया कि गांव में अगले 40 दिनों तक समाज द्वारा गवरी की धूम मचेगी। इधर, गांव के पीपली चौक में आयोजित गवरी नृत्य देखने के लिए सैकडों ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पडीं। इस दौरान कालू-कीर का खेल, मीणा-बंजारा की लड़ाई एवं अकबर-बादशाह सहित हठिया खेल देखकर ग्रामीणों ने खूब आनंद उठाया। इसी तरह, सिंदु गांव में भी शनिवार को गवरी कलाकारों ने ग्रामीणों का मनोरंजन किया।

READ MORE : मावली व‍िधायक का ये गजब का डांस देखकर आपके भी उड़ जाएंगे होश , यकीन ना हो तो देख‍िए...वीड‍ियो हुआ वायरल

इसी तरह खेरोदा गांव के गांधी चौक में पिछले दिनों राजस्थान की प्रसिद्ध गवरी नृत्य देखने के लिए दुर-दुराज के लोगों का देखने को तांता लगा रहा। दिनभर गवरी कलाकारों द्वारा लोगों को लोटपोट व मनोरंजन कर दिया रंग-बिरंगी पोशाक पहनकर कलाकारों द्वारा गवरी नृत्य किया। कीर,हत्या दायमा,कान्हा गुरजरी,लांखा बंजार व चौथ माता का सिरोही के घाटे में युद्ध की वर्णना की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned