यहां बेटियों को नही मिलता भरपेट खाना, रोटी मांगने पर मिलती हैंं गालियां

यहां बेटियों को नही मिलता भरपेट खाना, रोटी मांगने पर मिलती हैंं गालियां

Madhulika Singh | Publish: Jul, 26 2019 01:49:58 PM (IST) | Updated: Jul, 26 2019 05:01:39 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

सरू जनजाति गल्र्स हॉस्टल में टाइम पर खाना तक नहीं,तहसीलदार से शिकायत करते हुए रो पड़ी बेटियां

उदयपुर/परसाद. गिर्वा ब्लॉक की सरू ग्राम पंचायत में संचालित जनजाति बालिका आश्रम छात्रावास में बेटियों को टाइम पर खाना नहीं मिलने का सामने आया है। शिकायत पर जांच करने गुरुवार को गिर्वा तहसीलदार जब इस हॉस्टल में पहुंचे तो बालिकाओं ने खुलकर वार्डन की शिकायत करनी शुरू कर दी। इस पर महिला वार्डन इतनी आक्रोशित हो गई कि वह तहसीलदार और सरपंच से भी उलझ पड़ी। दोपहर 2 बजे तहसीलदार श्रवण सिंह, पटवारी राकेश मीणा के साथ हॉस्टल के निरीक्षण पर गए। इस दौरान वार्डन हेमलता सोनी एवं खाना बनाने वाली बाई मौजूद थी। भोजन के बारे में पूछने पर बताया कि 2 बजे मिलता है। सुबह नाश्ता दिया जाता है। इस पर लड़कियों से पूछताछ करनी चाही लेकिन वार्डन ने उन्हें एकांत में छोडऩे से इनकार कर दिया। तहसीलदार ने वार्डन को वहां से कमरे में भेजकर छात्राओं ने बात की तो उन्होंने रोते हुए शिकायतों की झड़ी लगा दी।

तहसीलदार के सामने छात्राओं ने ये लगाए वार्डन पर आरोप

-भरपेट खाना नहीं मिलता है। दो रोटी व चावल खाने के बाद तीसरी रोटी मांगने पर बाई की गालियां सुनने को मिलती है।
- रविवार को स्पेशल डाइट नहीं, वार्डन अकेला छोड़ कर शनिवार को ही अपने घर चली जाती है।

-समाजकंटक हॉस्टल में पत्थर फेंकते है। वार्डन को शिकायत पर सुनवाई नहीं होती।

-15 दिनों से सडी हुई दाल एवं दलिया बनाया जा रहा है। कुछ लड़कियां बीमार हो गई है।

- हॉस्टल में रहने वाली हर छात्रा से थाली -कटोरी के नाम पर 50-50 रुपए वसूले जाते हैं।
-राशन में गड़बड़ी होती है।

-रात की बची हुई रोटियां अगले दिन दो बजे परोस दी जाती है।

यह भी पहुंचे मौके पर..

जांच के दौरान स्थानीय सरपंच नारायणलाल, नरेश मीणा, उपसरपंच मुकेश मीणा, एडवोकेट सुन्दर मीणा भी मौके पर पहुंचे और इन जनप्रतिनिधियों ने भी वार्डन की शिकायत तहसीलदार से की। स्टोर रूम से दालों को चेक करने पर कट्टे में सड़ी हुई दाल मिली, जिसके सेम्पल लिए गए।


इनका कहना...

शिकायत पर हॉस्टल का निरीक्षण किया गया। बालिकाओं के दर्द से पता चला कि वार्डन की घोर लापरवाही है । उच्च अधिकारियों को अवगत करवाते हुए कार्रवाई की जाएगी।

श्रवणसिंह, तहसीलदार गिर्वा

आरोपों का क्या है आरोप लगे हैं तो ठीक से जांच होगी। सच का सच, झूठ का झूठ सामने आ जाएगा।

हेमलता सोनी, वार्डन, सरू जनजाति कन्या छात्रावास


शिकायत की सूचना पर निरीक्षण किया। शिकायतें मिली उनका स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर निस्तारण किया है। हॉस्टल मैजेनमेंट को लेकर लड़कियों की कमेटिया बनाई गई है।

प्रदीप पानेरी, अतिरिक्त जिला शिक्षाधिकारी, टीएडी विभाग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned