'निजी हॉस्पिटल में ' सरकारी नोडल ऑफिसर खींचेंगे कोरोना पर लगाम

- सरकार बोली- निजी चिकित्सालयों की समस्याएं भी हों दूर

By: bhuvanesh pandya

Updated: 21 Nov 2020, 06:17 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. कोरोना संक्रमण दूर करने के लिए जितनी मशक्कत सरकारी हॉस्पिटल कर रहे हैं, उसी दौड़ में निजी हॉस्पिटल भी कंधे से कंधा मिलाकर कोरोना से जंग लडऩे में अहम भूमिका निभा रहे हैं। प्रदेश में संचालित कई निजी चिकित्सालय इस विषम परिस्थिति में आमजन के प्रति नैतिक व व्यावसायिक दायित्व का निर्वहन भी कर रहे हैं। ऐसे में उनसे संवाद बनाने, समन्वय व पलंग की संख्या बढ़ाने के लिए अब हर जिले में सरकारी नोडल अधिकारी लगाए गए हैं। कई जिलों में जिला कलक्टर के माध्यम से नोडल अधिकारी लगाए जाएंगे। नोडल अधिकारी वरिष्ठ चिकित्साधिकारी या उनसे उच्च अधिकारी को सहायक नोडल अधिकारी को बनाया जाएगा।

-----
ये रहेगा अधिकारी का काम

- ये नोडल अधिकारी निजी चिकित्सालय में पलंग क्षमता जांचेंगे, इसमें सामान्य, ऑक्सीजन, सपोर्टेड, आईसीयू व वेंटीलेटर लगे कितने हैं, ये देखेंगे। श्रेणीवार 30 प्रतिशत पलंग कोविड 19 के मरीजों को उपलब्ध करवाने होंगे। निजी चिकित्सालचय में आने वाले कोविड संक्रमित मरीजों, राज्य स्तरीय मुख्यमंत्री हैल्प लाइन 181, जिला प्रशासन की ओर से रैफर किए गए मरीजों को हैल्थ डेस्क के माध्यम से पलंग उपलब्ध करवाएंगे जाएंगे। जरूरत पर पलंग बढ़ाने व आरक्षित पलंग बढ़ाने के लिए निर्देशित किया जाएगा।
- नोडल अधिकारी निजी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की मांग व आपूर्ति की समीक्षा कर हर समस्या का समाधान विभाग से संपर्क कर करेंगे।

- निजी हॉस्पिटल द्वारा भर्ती किए गए कोविड मरीजों का उपचार तय दरों पर ही किया जा सकेगा।
-------

निजी हॉस्पिटल द्वारा कोविड के उपचार के लिए सरकार की ओर से निर्धारित दरों से अधिक राशि लेने की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए कमेटी का गठन किया गया है। जिला कलक्टर की ओर से इसमें इन्हें शामिल किया गया है।
- सीएमएचओ

- वरिष्ठ चिकित्सक मेडिसिन
- वरिष्ठ चिकित्सक निश्चेतन

-------

नाम हॉस्पिटल- कोरोना के लिए आरक्षित पलंग- प्रभारी अधिकारी- मेडिकल ऑफिसर
गीतांजली- 363- डॉ मंजू, आईएएस- डॉ. विजय पुरोहित

पेसिफिक भीलों का बेदला- 193- अर्पणा गुप्ता, आईएएस- डॉ. गणपतसिंह चौधरी
पेसिफिक उमरड़ा- 195- डॉ सौम्या झा, एसडीओ गिर्वा- डॉ. मोहनसिंह धाकड़

एम्स बेडवास- 195- शैलेष सुराणा, एसीइओ जिप, डॉ. भूपेन्द्र शर्मा
पारस- 25- ज्योति ककवानी, डीएसओ- डॉ. कैलाश शर्मा-

जीबीएच मधुबन- 25- श्वेता फगेरिया, डीआईजी स्टाम्प- डॉ. सुनील सुराणा
शर्मा मल्टीस्पेशलिटी- 30- डॉ. अनिल शर्मा, डिप्टी कमिश्नर निगम- डॉ आशा रानी गुप्ता

चौधरी हॉस्पिटल- 20- सुरेश खटीक डीडी टीएडी- डॉ. प्रेरणा भार्गव
सनराइज हॉस्पिटल- 18- जितेन्द्र पांडे- डॉ. सरोज मेहता

अरावली हॉस्पिटल- 15- प्रदीप सांगावत- डॉ. शंकरलाल बामनिया
कल्पना नर्सिंग होम- 10- रािगनी डामोर- डॉ. ताराचंद गुप्ता

जेजे मल्टीस्पेशलिटी- 30- कविता पाठक- डॉ. हेमन्त दामा
------------

कुल पलंग- 1119
इनका कहना है

नियमानुसार सभी में चिकित्सकों को लगाया गया है। प्रशासन की ओर से सभी उच्चाधिकारियों को बतौर नोडल ऑफिसर लगाया गया है।
डॉ. दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned