सुहागिनों ने निर्जल व्रत रख की अखंड सुहाग की कामना

हरतालिका तीज पर्व पर की पूजा-अर्चना

By: madhulika singh

Updated: 10 Sep 2021, 04:30 PM IST

उदयपुर. भाद्रपद शुक्ल पक्ष की तृतीया पर गुरुवार को हरतालिका तीज पर्व मनाया गया। अखंड सौभाग्य प्राप्ति के लिए सुहागिनों और मनवांछित वर कामना में कन्याओं ने तीज व्रत किया। अलसुबह महिलाओं ने स्नानादि, शृंगार कर मंदिरों में पूजा-अर्चना की। मान्यता के अनुसार यह व्रत माता गौरी ने शिवजी को पति रूप में पाने के लिए किया था। एेसे में सुहागिनें गौरी-शिव आराधना करती है। तीज की पूर्व संध्या पर महिलाओं ने मेहंदी रचाई। पूजन में मां पार्वती को सुहाग सामग्री अर्पित की गई। भजन, कीर्तन का दौर चला, वहीं कथा श्रवण की गई।

ओम श्री मार्कंडेय आध्यात्मिक ट्रस्ट के महामंत्री आचार्य नीरज आमेटा ने बताया कि महिलाओं ने सामूहिक रूप से शिव परिवार की चार प्रहर की पूजा व हवन किया। विशेष रूप से खीर एवं पकवानों का भोग धराया गया। वागड़ क्षेत्र त्रिवेदी मेवाड़ा ब्राहमण समाज की महिलाओं ने धनेश्वर महादेव मंदिर पर पूजा-अर्चना की। गणगौर घाट पर बालू के महादेव जी, पार्वती जी एवं गणेश जी की प्रतिमा बनाई और चारों पहर की पूजा की। फिर गणगौर घाट पर ही पानी में उनको विसर्जित करके फिर घर को प्रस्थान किया।

hartalika.jpg
madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned