होम आइसोलेशन : कई मरीज जैसे कैद में

फ्रंटलाइन वर्कर को टीके लगे पर मुस्तैदी नहीं

- लापरवाही का आलम

By: bhuvanesh pandya

Published: 19 Mar 2021, 09:08 AM IST

भुवनेश पंड्या
र्फ़्रंटलाइन वर्कर को टीके लग चुके हैं। वे पूरी तरह सुरक्षा घेरे में आने के बाद भी सरकार की ओर से तय नियमों के दायरे में अब भी काम करने के लिए तैयार नहीं हैं। शहर से लेकर जिले भर में ज्यादातर लोगों को होम आइसोलेशन में रखा जा रहा है, लेकिन उनकी ओर देखने वाला कोई नहीं। कार्मिक भी उनके घर जाकर उन्हें तसल्ली देने या सारसंभाल करने की बजाय केवल फोन पर ही ओपचारिकता कर काम चला रहे हैं।

-----

उदयपुर. उदयपुर में कोरोना संक्रमित होम आइसोलेशन में रखे गए ज्यादातर मरीजों की स्थिति ठीक नहीं है। अधिकांश मरीजों या उनके परिजनों ने बताया कि उनके घर कोई चिकित्सा टीम नहीं गई। केवल शुरुआत में फोन पर ही काम चलाया। अधिकांश मरीजों ने जरूरत के हिसाब से अपने स्तर पर दवाइयों की व्यवस्था की थी। टीम फोन पर भी किसी मरीज को केवल एक बार फोन कर पूछ लेती है जब वह संक्रमित होता है, इसके बाद नियमित उसे संभालने वाला या जांचने वाला कोई नहीं है। ----------

मरीजों की जुबानी: (मरीजों के बदले हुए नाम)- राजेश गुप्ता, सेक्टर 14 निवासी- मेरे पास एक बार फोन आया था। कोई नियमित मोनिटरिंग नहीं है। कुछ दिन से आइसोलेशन में हूं। दवाइयों की जरूरत के लिए पूछा था, लेकिन मेरे पास उपलब्ध दवाई थी। इसके बाद ना कोई टीम आई ना ही किसी ने पूछा।

------

मोहित जैन, भूपालपुरा- घर में चार लोग बीमार हैं। एक बार शुरुआत में फोन आया था, इसके बाद नहीं आया ।दवाइयां हमने स्वयं के स्तर पर व्यवस्था कर ली थी। सीएमएचओ ऑफिस से उस फोन में दवाइयों को लेकर पूछा था, तो हमने ले आने की बात कही थी।

------

सेक्टर 13 निवासी रश्मि ने बताया कि दो बार बात हुई है, लेकिन रोजाना फोन नहीं आता। यहां घर कोई टीम नहीं आई थी, बस फोन में दवाइयों के लिए जरूर पूछा था। हमारे पास पहले से ही दवाइयों की व्यवस्था थी।

------

सेक्टर 14 में सुहाना के पति मोहन ने बताया कि फोन पर पूछा था कि दवाइयों की व्यवस्था कर दी थी। टीम आने की बात जरूर कही थी, लेकिन यहां सभी व्यवस्था होने पर मैंने मना किया था।

-----

सेक्टर 14 निवासी रोशनी शर्मा के पिता ने बताया कि अभी स्वास्थ्य में सुधार है। टीम सीएमएचओ से एक बार फोन आया था, अभी नियमित कोई बात नहीं कर रहा। कोर्स नियमित ले रहे है।

------

सेक्टर 11 निवासी राजन ने बताया कि सीएमएचओ ऑफिस से एक बार फोन आया था और पूछा कि क्या दवाइ ले रहे है। दो दिन बुखार आने के बाद अब ठीक है। फोन पर ये जरूर कहा था कि कोई परेशानी हो तो फोन कर बता देना।

------

मरीजों की नियमित मोनिटरिंग की जा रही है, यदि किसी मरीज को कोई समस्या है तो तत्काल टीम पहुंचती है, कहीं कोई कमी रही हो तो हम तत्काल उसे ठीक करेंगे।

डॉ दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned