ILLEGAL ARMS LICENSE CASE: फर्जी लाइसेंस व मांडवली के सभी आरोपितों को जेल

ILLEGAL ARMS LICENSE CASE: फर्जी लाइसेंस व मांडवली के सभी आरोपितों को जेल

Mohammed Iliyas | Publish: Nov, 07 2017 02:14:56 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

मांडवली का मुख्य आरोपित अभी पकड़ से दूर...

उदयपुर . नगालैंड के फर्जी लाइसेंस से हथियार रखने के मामले में गिरफ्तार मुख्य सरगना व दलाल से पूछताछ के बाद अलग-अलग तीन टीमें नागालैंड, कलकत्ता व नागपुर गई हैं, जिन्होंने नामजद कुछ और आरोपितों के संबंध में साक्ष्य संकलन किए। न्यायालय ने आरोपितों, सरगना व दलाल का रिमांड खत्म होने पर बुधवार को उन्हें जेल भेज दिया। इधर, हथियार कांड में मांडवली के 32 लाख रुपए लाने वाले सूरत के व्यापारी सम्पत कुमार को भी न्यायालय ने जेल भेज दिया। अभी मामले में मुख्य आरोपित लोकेश आचार्य फरार है। जिसके पास पुलिस ने मांडवली के 12 लाख रुपए होना बताया है।

 

READ MORE: video: राजस्‍थान में फिल्म पदमावती रिलीज पर आखिरकार सरकार ने तोड़ी चुप्‍पी, होम मिनिस्‍टर ने बताया एक्‍शन प्‍लान

 

पुलिस ने गत 21 अक्टूबर को फर्जी लाइसेंस के मामले में लालगढ़ तहसील के दीदासर (चूरू) हाल मथुरानगर चोपड़ावाड़ी गंगासर (बीकानेर) निवासी सरगना भंवरलाल पुत्र रामेश्वरलाल ओझा, दलाल त्रिलोकपुरा रानोली (सीकर) निवासी धर्मवीरसिंह शेखावत के अलावा उदयपुर के मार्बल उद्यमी ऋषभदेव निवासी अनंत कुमार पुत्र बंशीलाल कोठारी को गिरफ्तार किया था। अनंत के जेल जाने के दो दिन बाद ही भंवर व धर्मवीरसिंह का रिमांड समाप्त होने पर न्यायालय ने उन्हें भी न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। रिमांड अवधि के दौरान पुलिस आरोपितों से बांसवाड़ा, जयपुर , सीकर, नागौर, बीकानेर , गंगानगर में अभी तफ्तीश के साथ ही तीन टीमें नगालैंड, नागपुर व कलकत्ता भेजी है। पुलिस का कहना है कि आरोपितों से बनाए नगालैंड के लाइसेंस से अब तक जयपुर बड़ी चौपड़ स्थित शिकार गन स्टोर से 309, राजस्थान गन हाउस जयपुर से 41 व सीकर गन स्टोर सीकर से 168 व्यक्तियों को हथियार व कारतूस सप्लाई किए गए। यह सभी लाइसेंस संदिग्ध हैं। आरोपितों से प्रारंभिक पूछताछ में करीब 125 लाइसेंस फर्जी बनाने की अब तक पुष्टि हो चुकी है।

 

READ MORE: राजस्थान में एक साल में 12 से अधिक किसानों ने दी जान, लेकिन कृषि मंत्री बोले-एक भी किसान ने नहीं की आत्महत्या

 

हथियार के मामले में गिरफ्तार सरगना भंवरलाल ओझा को छुड़वाने के लिए 32 लाख रुपए की मांडवली करने वाले मुख्य आरोपित सेक्टर-14 निवासी लोकेश पुत्र पुरषोत्तम आचार्य का पता नहीं चला। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपित लूणकरणसर हाल सूरत निवासी सम्पत पुत्र तोलाराम सारस्वत की रिमांड अवधि समाप्त होने पर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया। पूर्व में गिरफ्तार आरोपित दलाल धरियावद हाल क्रिस्टिल प्लाजा सविना निवासी राजकुमार पुत्र रामेश्वरलाल आचार्य व अनिल पुत्र पुरषोत्तम आाचार्य को पुलिस जेल भेज चुकी है। पुलिस अब तक मांडवली के 20 लाख रुपए बरामद कर चुकी है। 12 लाख रुपए अभी फरार लोकेश के पास होना बताया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned