कार से आए व घर में जबरन घुस गए ,परिवार की पिटाई की ,तीन दिन में 25 लाख रुपए देने की धमकी दी

कार से आए व घर में जबरन घुस गए ,परिवार की पिटाई की ,तीन दिन में 25 लाख रुपए देने की धमकी दी, अवैध खनन की मुखबिरी का शक, चैनपुरा में बजरी माफिया ने दिखाई धौंस

काछोला. क्षेत्र के चैनपुरा में बजरी माफिया का दुस्साहस देखिए कि एक घर में घुसकर परिवार की पिटाई की और तीन दिन में 25 लाख रुपए देने की धमकी दी। माफिया को शक है कि इस परिवार ने बजरी के अवैध खनन की शिकायत की थी। पैसे नहीं देने पर परिवार को जान से मारने की धमकी दी।

By: Shivbhan Sharan Singh

Updated: 16 May 2020, 08:02 PM IST

कार से आए व घर में जबरन घुस गए ,परिवार की पिटाई की ,तीन दिन में 25 लाख रुपए देने की धमकी दी, अवैध खनन की मुखबिरी का शक, चैनपुरा में बजरी माफिया ने दिखाई धौंस

काछोला. क्षेत्र के चैनपुरा में बजरी माफिया का दुस्साहस देखिए कि एक घर में घुसकर परिवार की पिटाई की और तीन दिन में 25 लाख रुपए देने की धमकी दी। माफिया को शक है कि इस परिवार ने बजरी के अवैध खनन की शिकायत की थी। पैसे नहीं देने पर परिवार को जान से मारने की धमकी दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
थानाप्रभारी रतनलाल खटीक ने बताया कि चैनपुरा की गोविंद कंवर पत्नी भवानीसिंह कानावत ने रिपोर्ट दी कि गत दिनों क्षेत्र के थलकलां के निकट ग्रामीणों की शिकायत पर खनिज विभाग ने बजरी भरे चार डंपर पकड़े। इससे बजरी माफिया में हडक़ंप मच गया। माफि या ने कानावत परिवार को मुखबिर समझा। काछोला निवासी बजरंगसिंह सोलंकी समेत कुछ लोग शुक्रवार शाम कार से आए व कानावत के घर में जबरन घुस गए। सोलंकी ने कहा कि कानावत परिवार ने अवैध बजरी की शिकायत की। इसके बाद सोलंकी और उसके साथियों ने घर में तोडफ़ ोड़ की। मुख्य द्वार तोड़ दिया। परिवादी के बेटे गजराज और पुत्रवधू को सरियों और लात-घूसों से पीटा। डंपर पकडऩे से हुए नुकसान की भरपाई के लिए पीडि़त परिवार से 25 लाख रुपए मांगे। इसके लिए तीन दिन की मोहलत दी। बचाने आई पड़ोसी महिलाओं को धक्का दिया। पुलिस ने पीडि़त परिवार के बयान लिए। पीडि़त परिवार ने आरोपियों का अभद्र व्यवहार का वीडियो भी बनाया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है

Shivbhan Sharan Singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned