scriptInstructions to covid Dedicated Hospitals to keep arrangements tight a | कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को व्यवस्थाये चाक चौबंद रखने एवं अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश | Patrika News

कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को व्यवस्थाये चाक चौबंद रखने एवं अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश

सीएमएचओ ने ली कोविड रिव्यू बैठक

उदयपुर

Published: January 05, 2022 08:22:39 am

प्रदेश में दिनों दिन बढ़ते जा रहे कोविड मामलो ने स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ा दी हैं। एक और जहां टीकाकरण कार्य में तेजी लाकर अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेट करने की कवायद की जा रही है वहीं दूसरी ओर किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को व्यवस्थाये चाक चौबंद रखने एवं अलर्ट मोड पर रहने हेतु निर्देशित किया जा रहा है। उदयपुर जिले में इस संबंध में ज़िला कलेक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशानुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने स्वास्थ्य भवन में निजी एवं राजकीय अस्पताल प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर कोविड के वर्तमान हालात एवं अस्पतालों में कोविड व्यवस्थाओं पर चर्चा की। बैठक में डब्ल्यूएचओ एसएमओ डॉक्टर अक्षय व्यास, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राघवेंद्र राय, जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी एवं नोडल कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल डॉ अंशुल, कोविड लॉजिस्टिक प्रभारी डॉक्टर अंकित जैन, नोडल कांटेक्ट ट्रेसिंग डॉक्टर मनु मोदी सहित अन्य जिलास्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में वृद्धि हुई है। हम सभी को इससे निपटने हेतु आवश्यक तैयारियों के साथ तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों ने कोरोना की पिछली दो लहरों में जिस मानवता एवं सिद्दत के साथ कार्य किया वह प्रशंसनीय है। वर्तमान में हमारे पास संसाधनों की कमी नहीं है। ऑक्सीजन प्लांट से लेकर साधारण बेड की व्यवस्थाओं को हमने समय रहते मजबूत किया है। उन्होंने निजी अस्पताल संचालकों को निर्देशित किया कि अपने अस्पताल में ओमिक्रोन की चुनौती का सामना करने की पूरी तैयारी रखें। कोरोना से निपटने के लिए आइसोलेशन वार्ड तैयार कर ले। आईसीयू बेड, सामान्य बेड एवं वेंटिलेटर की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कर लें। उन्होंने कहा कि हालांकि कोविड का नया वेरिएंट अभी तक कम घातक सिद्ध हुआ है फिर भी हमें कम से कम 30 से 40त्न बेड कोविड मरीजो हेतु रिजर्व रखने होंगे एवं इसके साथ ही किसी भी आपात स्थिति में इनमे बढ़ोतरी हेतु भी कार्ययोजना तैयार रखनी होगी। उन्होंने कहा कि सभी अस्पताल बेड की स्थिति को स्टेट पोर्टल ओपन होने पर ऑनलाइन करने के साथ ही जिले की गूगल सीट पर भी अपडेट करना सुनिश्चित करें जिससे लोगों को वास्तविक स्थिति स्पष्ट रहे। डॉक्टर खराड़ी ने कहा कि जिन अस्पतालों ने ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर लिए हैं वह उनके सुचारू संचालन की व्यवस्था सुदृढ़ कर लें एवं आक्सीजन कंसंट्रेटर सहित अन्य जीवन रक्षक उपकरणों की व्यवस्थाओं को समय रहते चाक-चौबंद कर लेवे।
कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को व्यवस्थाये चाक चौबंद रखने एवं अलर्ट मोड पर रहने हेतु निर्देश
कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों को व्यवस्थाये चाक चौबंद रखने एवं अलर्ट मोड पर रहने हेतु निर्देश

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथरेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालनTesla In India: हमारे यहां लगाएं अपनी इलेक्ट्रिक कार का प्लांट, इस राज्य ने Elon Musk को दिया खुला न्योतासपा को बड़ा झटका, कैराना से प्रत्याशी नाहिद हसन गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.