जन अनुशासन की सख्ती पहले ही दिन टूटी, कोई रोकने-टोकने वाला नहीं

सब्जी मंडी में ऐसी भीड़ मानो कोरोना संक्रमण ही खत्म हो गया, सडक़ों पर पुलिस व प्रशासन कोई नहीं, शाम बाद चेते

By: Mukesh Kumar Hinger

Updated: 20 Apr 2021, 12:37 PM IST

Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर. राज्य सरकार ने जन अनुशासन पखवाड़े को लेकर रविवार रात को गाइडलाइन जारी की जिसमें कुछ छूट को छोडकऱ सख्त प्रावधान थे लेकिन उदयपुर शहर से लेकर जिले भर में गाइडलाइन की पालना सोमवार दोपहर तक नहीं हुई। दिन भर सडक़ों पर लोगों की भीड़ आ-जा रही थी। किसी को कोई पूछने व रोकने वाला नहीं था।

सुबह-सुबह सब्जी मंडी में तो गाइडलाइन ऐसे तोड़ी गई कि सोशल डिस्टेंस तो कुछ दिखी ही नहीं। वहां की तस्वीरे ऐसी थी कि मानो कोरोना संक्रमण ही चला गया। बाजारों में। दूसरी तरफ किराणा, मेडिकल आदि को छोडकऱ बाजार तो बंद रहे लेकिन बाजार में भीड़ जरूर थी। सबसे बड़ी बात तो यह कि वीकेंड कफ्र्यू की पालना जिस कदर की गई वैसे पालना सरकार के इस अभियान की पहले दिन तो नहीं देखी गई।
उदयपुर संभाग मुख्यालय पर सोमवार को गाइडलाइन के सारे-नियम कायदों को ताक में रख दिया गया। कोई किसी को रोकने वाला नहीं था। बाजार तो नहीं खुले लेकिन शहर की सडक़ों पर लोगों की भारी आवाजाही थी। कई लोग और युवा तो ऐसे निकले जैसे शहर में घूमने आए हो लेकिन उनको चौराहों व सडक़ों पर पूछने वाला कोई नहीं था। जिला प्रशासन व पुलिस की ओर से राज्य सरकार की गाइड लाइन की पालना करने को लेकर कोई बंदिशे सडक़ों पर नहीं दिखी। जिन दुकानों को छूट से मुक्त रखा वे पूरी तरह से खुली लेकिन उन क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंस की पालना नहीं हुई।
सुबह मुखर्जी चौक सब्मी मंडी में तो इस कदर भीड़ थी कि वहां सोशल डिस्टेंस और भीड़ पर नियंत्रण को लेकर प्रशासन की कोई व्यवस्था नहीं थी। इसी तरह धानमंडी स्थित तीज का चौक क्षेत्र में सब्जी मंडी के भी यही हाल थे। शहर की सडक़ों पर दुपहिया से लेकर चार पहिया वाहन भी आम दिनों की तरह चल रहे थे, वॉल सिटी में भी कई टेम्पो आ-जा रहे थे। अशोकनगर मुख्य रोड, हिरणमगरी, सुंदरवास, विवि मार्ग, 100 फीट, फतहपुरा, साइफन, सुखेर रोड, अम्बामाता, मल्लातलाई क्षेत्र में भी सडक़ों पर आवाजाही दिन भर देखी गई।
सोशल मीडिया पर घरों से नहीं निकलने वाले लोगों की प्रतिक्रियाएं थी कि या तो सख्त लॉकडाउन रखना चाहिए था, लोग निकल रहे फिर ये कौनसे नियम बनाए गए है समझ से परे है, या तो लॉकडाउन रखना ही नहीं था। एक ग्रुप में तो प्रशासन को कोसा गया कि आखिर सरकार की गाइड लाइन को भूल गए क्या?

दोपहर बाद थोड़ी बहुत सख्ती शुरू की
दोपहर बाद पुलिस व प्रशासन ने सख्ती शुरू की। इसके तहत सूरजपोल, झीणीरेत चौक व घंटाघर क्षेत्र में आने-जाने वालों से पूछताछ शुरू की, वहां से गुजर रहे वाहनों को भी रोका। शाम बाद मुख्य सडक़ों पर भी पूछताछ शुरू हुई, हर आने-जाने वाले को रोकना व टोकना शुरू किया। कई चौराहों व मुख्य रास्तों पर चैक पोस्ट की तरह पुलिसकर्मियों के लिए टेंट लगाए गए।

जन अनुशासन की सख्ती पहले ही दिन टूटी, कोई रोकने-टोकने वाला नहीं

कलक्टर ने भी निकाले आदेश, बाजार बंद रहेंगे

इधर, जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने सम्पूर्ण जिले में 19 अप्रेल की सुबह 5 बजे से 3 मई की सुबह 5 बजे तक जन अनुशासन पखवाड़ा जारी रखने के आदेश जारी किए। राज्य सरकार की गाइडलाइन के बिन्दु ही इस आदेश में समाहित है। उन्होंने कहा कि इस अवधि में सभी कार्यस्थल, व्यवसायिक प्रतिष्ठान एवं बाजार बंद रहेंगे। सामान्य गतिविधियां जिनके कारण कोरोना संक्रमण अधिक बढ़ रहा हैं, प्रतिबंधित होंगे।

अनुमत दुकानें शाम 5 बजे तक ही खुलेेगी
इसके तहत खाद्य पदार्थ एवं किराने का सामान, मण्डियां, फल एवं सब्जियां, डेयरी एवं दूध, पशुचारा से सम्बन्धित खुदरा (रिटेल)/थोक (होलसेल) दुकानें शाम 5 बजे तक अनुमत होगी। एवं जहां तक संभव हो इनके द्वारा होम डिलीवरी की व्यवस्था की जाएगी। सब्जियां एवं फलों के ठेले/साईकिल रिक्शा, ऑटो रिक्शा, मोबाईल वैन द्वारा सांय 7 बजे तक बेचा जा सकेगा। साथ ही अन्र्तराज्यीय एवं राज्य के अन्दर माल परिवहन करने वाले भार वाहनों के आवागमन, माल के लोडिंग एवं अनलोडिंग तथा उक्त कार्य हेतु नियोजित व्यक्ति। राष्ट्रीय एवं राज्यमार्गो पर संचालित ढाबें एवं वाहन रिपेयर की दुकानें अनुमत होगी। इसी प्रकार रबी की फसलों की आवक मण्डियों में हो रही है तथा समर्थन मूल्य पर फसलों को क्रय करने का कार्य अनुमत होगा। इधर, प्रतापनगर ने गणेशनगर-पायड़ा क्षेत्र में कफ्र्यू लगाया। यह प्रताप चौक क्षेत्र में निषेधाज्ञा लगाया है जो 2 मई की मध्यरात्रि तक प्रभावी रहेगा।

महाराष्ट्र जा रहे तो नेगेटिव रिपोर्ट लेकर जाए
रेलवे ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार महाराष्ट्र जाने वाले यात्रियों को कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट ले जाना होगा। उत्तर पश्चिम रेलवे के अजमेर मंडल के अनुसार महाराष्ट्र जाने वाले यात्रियों को 48 घंटे के भीतर की आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट साथ रखनी होगी। साथ ही बिना कन्फर्म टिकट के यात्रियों को महाराष्ट्र के लिए जाने वाली ट्रेनों के लिए सवार होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। यात्रियों की अनिवार्य रूप से जांच की जाएगी और केवल बिना लक्षण वाले यात्रियों को ही महाराष्ट्र के लिए जाने वाली ट्रेनों में चढऩे की अनुमति दी जाएगी।

वस्त्र व्यवसायी बोले टाइम बाउण्ड दुकानें खुलवाए
बड़ा बाजार व्यापार संघ व होलसेल क्लॉथ मर्चेंट संस्थान के अध्यक्ष अजय पोरवाल ने चेंबर ऑफ कॉमर्स उदयपुर के अध्यक्ष पारस सिंघवी से आग्रह किया कि सरकार तक बात रखे कि व्यापारियों का दु:ख पर भी विचार करे। पोरवाल ने कहा कि कपड़ा और सर्राफा दुकानदारों को पिछले लॉकडाउन की वजह से नुकसान उठाना पड़ा और वापस सीजन शुरू हुई और दुकानें बंद हो गई है। इधर, वस्त्र व्यापार संघ अध्यक्ष मदनलाल सिंघटवाडिय़ा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कफर््यू के दौरान वस्त्र व्यवसायियों को भी टाइम बाउण्ड दुकान खोलने की इजाजत देने की मांग की।
सचिव वेदप्रकाश अरोड़ा़ ने बताया कि यदि शादियों के सीजन में यदि यह बाजार नहीं चलेगा तो व्यापारी व सरकार दोनों को नुकसान होगा। मण्डी क्लॉथ एसोसिएशन के अध्यक्ष मसंूरअली वीचावेरावाला, होलसेल वस्त्र एवं रेडीमेड व्यापार संघ अध्यक्ष कांतिलाल जैन, सचिव विमल कुमार जैन, होलसेल वस्त्र एवं रेडिमेड संस्थान संगठन के कोषाध्यक्ष अरविन्द जारोली ने भी इस पर विचार करने की मांग की।

Corona virus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned