आस्तीन के सांप बन रहे ये 'विभीषण, खुद के महकमे की करा रहे हैं किरकिरी

आस्तीन के सांप बन रहे ये 'विभीषण, खुद के महकमे की करा रहे हैं किरकिरी
आस्तीन के सांप बन रहे ये 'विभीषण, खुद के महकमे की करा रहे हैं किरकिरी

Sushil Kumar Singh Chauhan | Updated: 12 Oct 2019, 06:00:00 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

jhola chhap doctors चिकित्सा विभाग की कार्रवाई के ठीक पहले भाग छूटे झोलाछाप, दिखावे के लिए हुई कार्रवाई में भी चिकित्सा विभाग को मिली निराशा

उदयपुर/ गोगुंदा. jhola chhap doctors उपखण्ड क्षेत्र में गलत उपचार से हुई महिला और मासूम की मौत को लेकर झोलाछापों पर सख्ती का दावा कर रहे चिकित्सा महकमे की लंबी रणनीति के बाद शुक्रवार को हुई कार्रवाई के परिणाम एक बार फिर निराशाजनक रहे। दल की कार्रवाई के ठीक आधे घंटे पहले ही बस स्टैण्ड सहित अन्य इलाकों में सक्रिय झोलाछाप उनके क्लीनिकों पर ताला जड़ भाग निकले। ऐसे में विभागीय दल में शामिल 'विभीषणोंÓ को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। हुआ यूं कि जिला चिकित्सा विभाग एवं स्थानीय उपखण्ड प्रशासन के निर्देश पर गठित विभागीय दल ने बस स्टैण्ड क्षेत्र स्थित क्लीनिकों पर झोलाछापों की धरपकड़ को लेकर कार्रवाई की औपचारिकताएं पूरी की। नतीजा हर बार की तरह ढाक के तीन पात रहा। यानी की कार्रवाई दल को मौके से कुछ भी हाथ नहीं लगा। कार्रवाई की भनक मिलते ही झोलाछाप मौके से भाग निकले। इधर, कार्रवाई के नाम पर दल ने ओबरा कला गांव में एक झोलाछाप की दुकान सीज की और दवाइयां भी जब्त की। लेकिन, मौके पर कोई नहीं मिला। दूसरी ओर पड़ावली, वास सहित अन्य इलाकों में भी अवैध दुकानें बंद रही। बता दें कि ग्रामीण इलाकों में लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने का दम भरने वाले विभाग के उपखण्ड कार्यालय की नाक के नीचे बस स्टैण्ड क्षेत्र में पांच से अधिक झोलाछाप क्लीनिक बनाकर सक्रिय हैं।
जारी रहेगा अभियान
औषधि नियंत्रण अधिकारी सहित 8 टीमों ने क्षेत्र में झोलाछापों के खिलाफ कार्रवाई की। टीम उनके क्लीनिकों पर भी पहुंची, लेकिन हाथ नहीं आया। अभियान आगे भी जारी रहेगा।
डॉ. ओ.पी. रायपुरिया, बीसीएमओ

आठ दुकानों को किया सीज
उदयपुर/ लसाडिय़ा. इधर, उपखण्ड मुख्यालय पर चिकित्सा विभाग व पुलिस बल ने झोलाछापों के खिलाफ सामूहिक कार्रवाई कर अगड़ में रामचंद्र विश्वास, देवलिया में आकाश विश्वास, मांडेर से सुकांत, लसाडिय़ा में जगन्नाथ मीणा, सुजल रॉय, बिगेन शर्मा, विनोद कलाल, अभिमल्लिक के क्लीनिकों पर दवाइयों की जांच की। डिग्री की अनुपस्थिति में सीजिंग की कार्रवाई की। jhola chhap doctors कार्रवाई के दौरान मुख्य खण्ड चिकित्साधिकारी सांकेत जैन, डॉ. लोकेश, कम्पाउडर ललित रेगर, जगदीश मेघवाल, रवि, हेल्पर विवेक, हेड कांस्टेबल प्रेमसिंह, कांस्टेबल मनोज मीणा एवं अन्य मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned