गुजराती व्यवसायी का अपहरण मामला: आरोपितों ने उदयपुर में कुछ से किया था सम्पर्क

अपहरण से पूर्व आरोपितों ने शहर में कुछ लोगों से सम्पर्क किया था।

By: jyoti Jain

Updated: 22 Aug 2017, 03:50 PM IST

उदयपुर . अपहरण से पूर्व आरोपितों ने शहर में कुछ लोगों से सम्पर्क किया था। वे मूलत: बांसवाड़ा के बताए जा रहे हैं। उन्होंने शर्मा का जिक्र करते हुए कहा कि उससे रुपयों की लेनदेन चल रही है। उसके बाद जैसे ही आरोपित के वीडियो वायरल हुए तो संबंधित व्यक्ति ने उन्हें पहचानते हुए पुलिस को सूचना दी।


अपहरण के बाद आरोपित सूरजनारायण को बांसवाड़ा की तरफ ले गए। उसकी अंतिम लोकेशन भी बांसवाड़ा से ३० किमी दूर परतापुर आ रही है। बांसवाड़ा की सदर थाना पुलिस ने वहां पूरी नाकाबंदी की और दो आरोपितों को पकड़ लिया। जबकि दो अन्य आरोपित उदयपुर में ही बताए जा रहे हैं। परिवादी का मोबाइल ऑन आ रहा था, उसने उदयपुर में किसी से बातचीत भी की। जिसमें मामला लेनदेन का ही सामने आया है। पुलिस ने फरार आरोपितों में दो बांसवाड़ा का बताया है।

 

मुख्य आरोपित शाहिद के इन्द्रा कॉलोनी स्थित आवास पर दबिश देकर तलाशी भी ली। बताया जा रहा है कि मुख्य आरोपित का बांसवाड़ा में मोटर पार्ट्स का काम है। वह फाइनेंस कंपनियों से गाडि़यां खरीदता है। आठ दिन पूर्व भी उसने उदयपुर में फाइनेंस कंपनी से करीब तीन गाडि़यां खरीदी थी। परिवादी के साथ लाखों की लेनदेन रही है। अपहरण के पीछे भी करीब २० लाख की लेनदेन बताई जा रही है। गौरतलब है कि सोमवार शाम उदियापोल स्थित सर्वऋतु विलास होटल के बाहर से कार सवार तीन युवक एक गुजराती व्यवसायी का अपहरण कर बांसवाड़ा ले गए। सरेराह लोगों के सामने हुए घटनाक्रम के बावजूद वे देखते रहे लेकिन किसी ने रोका टोकी तक नहीं की।

 

 

READ MORE : छात्रसंघ चुनाव 2017 : पाबंदी होने पर भी उदयपुर में प्रचार के लिए प्रत्याशी कर रहे पोस्टर-बैनर का उपयोग

 

 

उदयपुर पुलिस की सूचना व फोन की लोकेशन के आधार पर बांसवाड़ा की सदर थाना पुलिस ने देर रात मुख्य आरोपित सहित दो आरोपितों को गिरफ्तार कर परिवादी को उनके चंगुल से छुड़वाया। एक आरोपी भागने में सफल रहा जिसकी तलाश जारी है। नवकार अपार्टमेंट कृष्णानगर अहमदाबाद निवासी सूरज नारायण शर्मा (60 के अपहरण के मामले में गिरफ्तार आरोपी तलवाड़ा हाल प्रगति नगर बांसवाड़ा निवासी सईद पुत्र सलीम मंसूरी व प्रतापगढ़ हाल नाड़ाखाड़ा उदयपुर निवासी अभिषेक पुत्र ओमप्रकाश पालीवाल को लेने उदयपुर की टीम देर रात आरोपितों को लेने बांसवाड़ा रवाना हुई फरार आरोपित मनोज भारती को पकडऩे के लिए टीम ने उसके गांव पालोड़ा में दबिश दी लेकिन पता नहीं चला। पूछताछ में सूरजमल के पुलिस का मुखबिर होने व शाहिद से पैसों के लेन-देन को विवाद के चलते भी अपहरण के बात सामने आई है।

 

 

यूं धरे गए आरोपित

आरोपित अपहरण के बाद व्यवसायी सूरजमल को बांसवाड़ा ले गए। रास्ते में पालोड़ा गांव के निकट उन्हें पुलिस की नाकाबंदी की सूचना मिल गई तो उन्होंने रास्ता बदलते हुए गढ़ी गांव की ओर गए। वहां भी पुलिस दिखने पर आरोपितों ने त्रिपुरा सुंदरी की ओर से गाड़ी घूमा दी, लेकिन यहां भी पुलिस को देख लुहारिया गांव की तरफ मुड़ गए। सभी जगह नाकाबंदी देख मनोज भारती पालोडा में उतर गया, जबकि सईद और अभिषेक पालीवाल को पुलिस ने सदर थाने के पास धर दबोचा।

jyoti Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned