पानी में बह गई लाखों की सड़क

चौकड़ा लिमडी से बेहुती रोड 1 वर्ष में ही क्षतिग्रस्त
सराड़ा उपखण्ड की सगतड़ा ग्राम पंचायत का मामला

By: surendra rao

Published: 23 Jan 2021, 05:52 PM IST

सराड़ा. (उदयपुर)जहां एक ओर केंद्र व राज्य सरकार की ओर से गांव-गांव, ढाणी- ढाणी विभिन्न योजनाओं में करोड़ों रुपए खर्च कर सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, वहीं विभाग की लापरवाही व ठेकेदारों की मनमर्जी के चलते कोई कार्य गुणवत्तापूर्वक नहीं किया जा रहा है, जिसका खमियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है।
सराड़ा उपखंड क्षेत्र की सगतड़ा ग्राम पंचायत में बरसों के इंतजार के बाद सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च कर सड़क मय पुलिया निर्माण की घोषणा की गई।
विधायक अमृत लाल मीणा, सांसद की ओर से रोड का शिलान्यास किया गया। उस समय क्षेत्रवासियों में खुशी की लहर छा गई कि अब उन्हें अपने ग्राम पंचायत मुख्यालय पर पहुंचने व अन्य कामों के लिए आने जाने में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं होगी परंतु ठेकेदारों की लापरवाही के चलते लोगों के अरमान पहली बरसात में ही बह गए।
तीन जगह बह गए पुल
एक करोड़ तीन लाख पचास हजार रुपए से बनने वाले चौकड़ा लिमड़ी- बेहुती रोड का शिलान्यास 24 जून, 2018 को किया गया परंतु पहली ही बरसात में तीन जगह पर पुल बह गए, जिससे आने जाने में लोगों को काफी परेशानी हो रही है। वर्षों से टूटी पड़ी पुलिया की मरम्मत तक नहीं की गई है, जिससे वाहन चालकों को आने जाने में भारी समस्या हो रही है। पंचायत समिति सदस्य लालू राम मीणा ने आरोप लगाया कि सड़क व पुल निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग किया गया, इसके चलते पुलिया व सड़क पहली बरसात में ही बह गई। आलम यह है कि दूर दूर तक डामर नजर नहीं आ रहा है।
करते हैं १०-१२ किमी की दूरी तय
बरसात के दिनों में अभिभावक जान जोखिम में डालकर बच्चों को स्कूल छोडऩे और लेने आते हैं। किसानों को खाद बीज लेने के लिए सगतड़ा सहकारिता विभाग जाना पड़ता है, वहां से भी आने जाने में दिक्कत होती है, इसलिए सगतड़ा ग्राम पंचायत मुख्यालय पहुंचने के लिए 10 से 12 किलोमीटर की दूरी तय करके जाना पड़ता है। ग्रामीणों ने बताया कि यहां दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैै।

Show More
surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned