पिछली सरकार की ये गलती आग लगाएगी

पिछली सरकार की ये गलती आग लगाएगी

pankaj vaishnav | Publish: Jan, 15 2019 02:30:48 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

बीमा अवधि खत्म होते-होते दिए वाहन, उदयपुर जिले के सलूम्बर, कानोड़ व भीण्डर में एक ही स्थिति

कन्हैया सोनी/सलूम्बर . प्रदेश की पूर्व सरकार ने 14 नगरपालिकाओं को 3000 लीटर क्षमता वाले दमकल वाहन दिए थे। ये वाहन एक साल तक जयपुर में पड़े रहने के बाद उस समय दिए गए, जब वाहनों की बीमा अवधि खत्म होने वाली थी। आनन फानन में वाहन नगर पालिकाओं तक पहुंच गए, लेकिन कार्मिक नहीं होने से दमकल वाहन जस के तस पड़े हैं। ऐसे में उदयपुर जिले की सलूंबर, कानोड़, भीण्डर पालिकाओं में पहुंचे 96 लाख के वाहन धूल फांक रहे हैं।
पूर्व सरकार ने नगर पालिकाओं को दमकल वाहन देने की कवायद वर्ष 2017 में शुरू की थी। वाहनों की खरीद कर पालिकाओं को देने के बजाय जयपुर में ही रख दिए गए। पालिकाओं को वाहन ले जाने के निर्देश उस समय दिए गए जब वाहनों का बीमा खत्म होने को था। सरकार ने 16 जुलाई 2018 को आदेश जारी करके पालिकाओं को निर्देश दिए कि चार दिन में वाहनों की बीमा अवधि खत्म हो रही है, ऐसे में वाहन पालिकाओं पर ले जाएं। आनन फानन में प्रदेशभर की 14 पालिकाओं की ओर से वाहन मंगवाए गए। बीमा अवधि खत्म होती देख पालिकाओं को मजबूरन अवधि बढ़ाने का खर्च ओढऩा पड़ा। उस दौरान वाहन सभी जगह पहुंच गए, लेकिन पालिकाओं को तकनीकी कर्मचारियों की कमी के चलते वाहन बीते 6 माह से जस के तस पड़े हैं। प्रदेश की 14 पालिकाओं में से 6-7 में यह स्थिति है। इसमें से उदयपुर जिले की तीनों पालिकाओं में वाहन अनुपयोगी पड़े हैं।
पालिका अनुदान से कटी राशि
राज्य सरकार ने पालिका के विकास के लिए मिलने वाले पंचम राज्य वित्त आयोग अनुदान की राशि से अग्निशमन वाहन खरीद कर नगरीय निकायों को आवंटित कर दिया। प्रत्येक वाहन मय सामान, किट आदि का खर्च 32 लाख करीब हुआ।
इन पालिकाओं में स्थिति
इटावा, किशनगढ़-बास , रूपबास, भीण्डर, कानोड़, सलूम्बर, सागवाड़ा, बड़ीसादड़ी, कपासन, बेगंू, छोटीसादड़ी, आमेट, विजयनगर (अजमेर), रामगंजमंडी में दमकल वाहनों को लेकर एक जैसे हालात है।
इनका कहना...
निर्देश प्राप्त होते ही जुलाई 2018 को जयपुर से वाहन को हमने मुख्यालय पर मंगवा लिया है। फिलहाल कार्मिक नहीं है। सरकार के निर्देश अनुसार पालना की जाएगी।
भक्तेश पाटीदार, कार्यवाहक अधिशाषी अधिकारी, सलूम्बर
राज्य सरकार से आवंटित दमकल वाहन हमारे पास है। स्टेशन का भी निर्माण करवाया गया है, लेकिन कार्मिक का अभाव है।
रोहित कुमार, अधिशाषी अधिकारी, भीण्डर
राजकीय कार्मिक के तौर पर अग्निशमन वाहन के दोनों कार्मिक हमारे पास नहीं है। कार्मिक मिलने पर वाहन का उपयोग होगा।
कुन्दन देथा, अधिशाषी अधिकारी, कानोड़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned