टिड्डियों के दल ने बर्बाद की लॉकडाउन में बोई जायद की फसलेंं , खेतों में सिर्फ ठूंठ

कद्दू और मक्का की फसल को टिड्डियांं चटकर गईं, डर के मारे किसान खेतों पर ही डटे रहे

By: madhulika singh

Published: 17 Jun 2020, 04:23 PM IST

उमेश मेनार‍िया/ मेनार. पिछले दिनों में 3 बार टिड्डियों के हमले के बाद जायद की फसलोंं में नुकसान हुआ है। खासकर कद्दू और मक्का की फसल को टिड्डियां चटकर गई हैंं। सोमवार को भी डर के मारे किसान खेतों पर ही डटे रहे। टिड्डियों के दल के लगातार सक्रिय होने से कृषि अधिकारियों की पिछले 3- 4 दिनों से रातों की नींद उड़ा दी थी। वहींं डर के मारे किसान चिंतित होकर खेतोंं पर डेरा डालकर बैठे हैंं क्योंकि अभी मवेशियों के लिए बड़ी मात्रा में हरा चारा बो रखा है। वहींं क्षेत्र में कपास, कद्दू , मूंग, जवार , बाजरा के साथ-साथ बहुत से किसानों ने सब्जी भी लगा रखी है । फतहनगर की तरफ से 3 बार टिड्डियों ने हवा के साथ रुख किया है। गत दिवस भी दोपहर में इंटाली , बड़गांव , मोरजाई ,व उदाखेड़ा , रोहिडा आदि गांव के ऊपर घूमती रही फिर हवा के कारण कीर की चौकी भींडर इलाके में पहुंच गई । वहीं शाम ढलते ढलते टिड्डियों का एक दल कपासन के मुरला क्षेत्र से बड़गांव की तरफ आया जो इंटाली मुख्य मार्ग के पास ईंंट भट्टे के पास 2 से 3 किमी क्षेत्रफल में इन्होंने रात्रि विश्राम के लिए उतरी जिसके बाद सहायक कृषि अधिकारी राधेश्याम जाटोलिया ने उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया । उसके बाद कृषि विभाग के कृषि पर्यवेक्षकोंं ने चार ट्रैक्टर स्प्रे मशीन , एक फायर ब्रिगेड ,दो बोलेरो फोग मशीन , पानी के टैंकर में कीटनाशक मिलाकर मध्य रात्रि के बाद छिड़काव किया गया जो सुबह तक चलता रहा। इस दौरान कृषि विभाग के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंंचे। उपनिदेशक कृषि विस्तार जिला उदयपुर डॉक्टर केएन सिंह , कृषि अधिकारी रोशन लाल डांगी , कृषि अधिकारी मिताली राठौड़ , टिड्डी नियंत्रण दल के डॉक्टर एम. शर्मा , सहायक कृषि अधिकारी जगदीश चंद्र आमेटा , राधेश्याम जाटोलिया सहित विभाग के अधिकारी मौके पर मौजूद रहे। मुख्य ब्लॉक कृषि अधिकारी भींडर मदन सिंह शक्तावत ने बताया की क्षेत्र में टिड्डियों के 2 समूह की सूचना है जो हवा के रुख के साथ उड़ान भर रहा है । विभाग द्वारा 2 बार छिड़काव किया गया है । कृषि विभाग की टीमें सतर्क है फिर भी किसानों से अपील है कि‍ वे टिड्डियों को आवाज करके भगाएं, वहींं रात्रि विश्राम की सूचना दे ताकि छिड़काव किया जा सके। प्रेम पांचावत और प्रेम रूपज्योत ने बताया की लॉकडाउन में उम्मीद के साथ कद्दू की फसल बोई थी जिसे भी टिड्डियों ने तबाह कर दिया। मेनार में पिछले दिनों में खेतो में बहुत नुकसान हुआ है। हरे भरे रिजके के खेत और कद्दू के खेतो में सिर्फ ठूंठ नजर आ रहे हैंं।

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned