उदयपुर में दिनदहाड़े एक युवती ने इस बुजुर्ग के साथ क‍िया कुछ ऐसा काम क‍ि बुजुर्ग के उड़ गए होश

दिनदहाड़े युवती ने बुजुर्ग के थैले से पार किए 50 हजार, भीण्डर थाने के सामने की घटनाएं

भीण्डर. पुलिस थाने के सामने स्थित एसबीआई शाखा के बाहर गुरुवार दोपहर 12 बजे एक बुजुर्ग के थैले से 50 हजार रुपए पार हो गए। वारदात को एक युवती ने अंजाम दिया। इधर, बुधवार रात को ही पुलिस चौकी के निकट एक केबिन में चोरी हो गई।
जानकारी के अनुसार सिंहाड़ निवासी शम्भूसिंह राजपूत रुपए निकालने बैंक पहुंचे। करीब 12 बजे रुपए निकाल बैंक के बाहर मशीन से पासबुक अपडेट करवा रहे थे, तब ही बुजुर्ग के पीछे खड़ी युवती ने थैले से 50 हजार रुपए निकाल दिए। शंभूसिंह पासबुक अपडेट करवा बाहर आया तो थैले में रखे रुपए गायब थे। वे चिल्लाने लगे तो बैंककर्मी और पुलिसकर्मी पहुंचे। सीसीटीवी फुटेज में युवती रुपए निकालते नजर आई। वह एक युवक के साथ बस में बैठती नजर आई। पता चला कि वे रेलवे स्टेशन पर उतरे। यहां से कीर की चौकी बस में बैठकर भाग गए।

वारदात से पहले रैकी

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज में देखा तो पता चला कि बुजुर्ग शम्भूसिंह ने 11.55 बजे बैंक से 50 हजार रुपए निकाल थैले में रखे। नकाब बांधे युवती बैंक में बैठी थी। वह साथी युवक के साथ रैली कर रही थी। वह बुजुर्ग के पीछे बाहर आई। लाइन में बुजुर्ग के पीछे खड़ी हो गई। युवती थैले से रुपए निकालते नजर आ रही है।

 

READ MORE : रात में ढाई बजे चड्डीधारी गेंग ने फिल्मी स्टाइल में उदयपुर में यहां धावा बोला, लहराती तलवारों के बीच आधी रात को शुरू हुए घमासान का ऐसा हुआ अंजाम


गार्ड ने नहीं दिया ध्यान
एसबीआई बैंक गार्ड की जिम्मेदारी है कि बैंक परिसर में मुंह ढंककर आने वाले के नकाब खुलवाए। युवती काफी समय तक गार्ड के निकट लगी हुई कुर्सी पर ही बैठी रही, लेकिन गार्ड ने ध्यान नहीं दिया।
यहां भी चोरियां
बुधवार रात सूरजपोल चौराहे पर पुलिस चौकी के निकट स्थित एक केबिन में चोरों ने पीछे की खिडक़ी तोड़ करके अंदर रखा सामान चोरी कर गए। केबिन मालिक प्रहलाद चौबीसा ने बताया कि रात करीब 12 बजे केबिन बंद करके घर पर गया था। सुबह देखा तो पीछे की खिडक़ी टूटी हुई थी। दुकान का सामान और नकदी चोरी हुई थी। वहीं प्रसिद्ध बीजासर माता मन्दिर परिसर में इसी रात ताले टूटे। माताजी मूर्ति के आभूषण चोरी हो गए।

madhulika singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned