बाल श्रम कराने के आरोपी मेट को जेल भेजा

टीम ने सूरत में दी दबिश

उदयपुर. कोटड़ा. बेकरिया थाना पुलिस व टीम ने दो दिन पहले सूरत मेेंं बाल श्रम कराने के आरोपी मेट को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया।

गौरतलब है कि बीते दिनों रेती स्टेण्ड, हिरणमगरी पर खड़ी बस में राजस्थान से बालश्रम के लिए बालकों को सूरत ले जाने की सूचना पर मानव तस्करी विरोधी यूनिट के पुलिस निरीक्षक प्रभारी श्याम सिंह मय जाप्ता मौके पर पहुंचे थे। उन्होंने बस से इन सभी 25 बालकों को रेस्क्यू किया। इनसे काउंसलिंग के दौरान पता चला कि सूरत में बड़ी संख्या में उदयपुर व आसपास के छोटे छोटे बालकों से बालश्रम करवाया जा रहा है। मानव तस्करी विरोधी यूनिट ने सूरत में खुफि या सूत्र स्थापित कर बाल श्रमिकों के बारे में सूचना जुटाई गई।
पुलिस अधीक्षक कैलाशचन्द्र विश्नोई के निर्देश पर प्रभारी मानव तस्करी विरोधी यूनिट मय संयुक्त टीम बनाई। इसमें स्वयंसेवी संगठन आसरा विकास संस्थान से संस्थापक भोजराज सिंह, कार्यकर्ता युवराज सिंह व निर्मल चौधरी और बचपन बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ता दामिनी पटेल, राकेश कुमार, जय कुमार पोद्दार एवं शीतल को शामिल कर मुक्तिधाम सोसायटी, सीताराम सोसायटी, हरिधाम सोसायटी एवं विवेकानंद सोसायटी, सूरत (गुजरात) में रेकी की गई। बाल श्रमिकों के निवास स्थानों एवं कार्यस्थलों के बारे में पुष्टि करने के बाद तड़के मानव तस्करी विरोधी यूनिट, उदयपुर, गुजरात पुलिस एवं आसरा विकास संस्थान, बचपन बचाओ आन्दोलन की संयुक्त टीमें बनाकर बाल श्रमिकों को रेस्क्यू करने के लिए मुक्तिधाम सोसायटी, सीताराम सोसायटी, हरिधाम सोसायटी एवं विवेकानंद सोसायटी, सूरत पहुंचे। इसके बाद जहां इन बाल श्रमिकों को रखा था, वहां जाकर रेस्क्यू किया गया। इनमें से बेकरिया व पानरवा सर्कल से कुल 05 लड़कों को नियोक्ता द्वारा लाना बताया गया, जो पिछले 1 माह से विवेकानंद सोसायटी, पुलिस थाना पुणा, सूरत में हीर सिंह पुत्र रूप सिंह परमार, निवासी झालों का कलवाणा, सायरा (उदयपुर) के यहां साड़ी समेटने व घड़ी करने का काम करते थे। काम का समय प्रात: 09 बजे से रात्रि 07 बजे तक था। मालिक हीर सिंह से 2500 रुपए मेहनताने के रूप में मासिक मिलते थे। बेकरिया थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया। मुखबिर की सूचना पर थानाधिकारी सकाराम ने मय टीम के १३ फरवरी को विवेकानन्द सोसायटी, हरिधाम सोसायटी सूरत (गुजरात) में दबिश दी। यहां वांछित आरोपी हीर सिंह पुत्र रूप सिंह परमार को गिरफ्तार किया। आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया।

surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned