देशी-विदेशी पक्षियों के कलरव से गूंज रहा उदयपुर का ये तालाब, द‍िखी लाल मुन‍िया

आमलिया तालाब के पास दिखी लाल मुनिया, देशी-विदेशी पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों से आबाद हो रहे जलाशय

By: madhulika singh

Updated: 18 Feb 2020, 01:53 PM IST

हेमंत गगन आमेटा/ भटेवर. उदयपुर जिले के नेशनल हाइवे 76 पर बसे भटेवर कस्बे के तीनों जलाशय देशी विदेशी पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों से आबाद हो रहे हैंं। प्रवासी पक्षियों के कलरव से जलाशयों को ओर भी खूबसूरत बना दिया है। आमलिया तालाब के पास घास में लाल मुनिया (रेड अवड़ावट) चिडिय़ा दिखाई देने के बाद पक्षीविद् विशाल महाजन ने अपने कैमरे में खूबसूरत पक्षी को कैद किया। पक्षीविद् विशाल महाजन ने बताया कि लाल मुनिया चिडिय़ा को रेड अवड़ावट के नाम से भी जाना जाता है। यह पक्षी आद्र्रभूमि का एक प्रमुख पक्षी है जो पानी के पास लम्बे घास और खेतों में अपना घौंसला बनाता है। आमतौर पर यह पक्षी बहुत ही कम दिखाई देता है। यह पक्षी बड़े समूह में रहते हैं। लेकिन प्रजनन के समय यह समूह से अलग होकर अपना घौंसला बनाते हैं। पहले यह पक्षी आसानी से खेतों में नजर आ जाता था। लेकिन अब यह कम ही दिखाई देता है।


पहले गन्ने के खेतों में आशियाना
यह सुर्ख लाल रंग वह चमकीली तिकोनी छोटी चोंच वाला सुंदर आकर्षक पक्षी है। खेतों में अब गन्ने की फसल एवं विशेष प्रकार की घास कम होने के कारण यह पक्षी खेतों में कम दिखाई देता है। इस प्रजाति के पक्षी लाल रंग के और बहुत आकर्षक व सुंदर होते हैं। बारिश के बाद प्रजनन के दौरान रेड मुनिया पक्षी के पंख ऊपर सफेद गोलाकार बिंदु होते हैं। भटेवर के प्रमुख जलाशयों के साथ आस पास जोरजी का खेड़ा, नवानिया, सरजणा बांध पर भी विभिन्न प्रकार के पक्षियों का जमावड़ा लगा हुआ है।

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned