रहस्य बना जंगल में युवती का लटका शव...पहले भी दो युवतियां हो चुकीं हैं इस खौफनाक जंगल की शिकार, आखिर क्‍या है राज..

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Sushil Kumar Singh

Published: 18 Dec 2018, 01:53 PM IST

उदयपुर/ कानोड़. समीपवर्ती ग्राम पंचायत भैरव स्थित कालीघाटी जंगल एक बार फिर चर्चा में है। सूचना है कि गांव की लकड़ी बीनने वाली महिलाओं ने जंगल में किसी युवती का शव फंदे से पेड़ पर लटका देखा है। ये शव तीन दिन पहले दिखा था। आज स्थानीय सरपंच को स्थानीय चरवाहों ने इसकी सूचना दी। इसके बाद से सरपंच एवं स्थानीय ग्रामीणों ने सोमवार को पूरे दिन टोलियां बनाकर जंगल में युवती के शव की तलाश की, लेकिन शाम तक किसी को शव नहीं दिखा। सरपंच की मानें तो चरवाहों ने ही देर शाम उसे दफनाने की सूचना दी है। स्थानीय थाना पुलिस भी पूरे मामले को लेकर अनजान बनी हुई है। लेकिन, मामला इसलिए भी गंभीर है कि इस जंगल में पहले भी इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें पुलिस स्तर पर शव बरामदगी की गई है। जानकारी के मुताबिक जंगल में जलाऊ लकड़ी बीनने जाने वाली महिलाओं ने शव को फंदे से लटका देखा था, लेकिन उन्होंने डर के मारे किसी को सूचित नहीं किया। सोमवार सुबह चरवाहों ने सरपंच वीरमा राम को ये सूचना दी। इसके बाद सहायक वनपाल वीरेंद्रसिंह एवं अन्य कर्मचारी व ग्रामीणों ने जंगल में शव की तलाश की।

 

READ MORE : VIDEO : स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 : लेकसिटी प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार पर चुनौतियां बहुत

 

डरावना है जंगल का पुराना इतिहास

लसाडिय़ा क्षेत्र के इस बड़े और घने जंगल में दिन के समय भी जंगली जानवरों का डर रहता है। जंगल में करीब दो साल पहले एक युवती का शव पेड़ से लटका मिला था। इसी तरह एक अन्य लड़की को यहां मारकर फेंक दिया गया था। अफवाहों के बीच सोमवार को स्थानीय लोग मवेशियों को जंगल में चराने भी नहीं ले गए। इधर, ग्रामीण शव होने की सूचना को सही मानकर आशंकित भी हैं। ग्रामीणों के स्तर पर मंगलवार को एक बार फिर शव की तलाशी की जाएगी।

भेजा है जाब्ता
पूरे दिन शव को लेकर कोई जानकारी नहीं थी। सूचना मिलने के बाद पुलिस जाप्ता भेजा है। मंगलवार को जंगल में शव तलाशेंगे।

दौलतसिंह, थानाधिकारी, लसाडिय़ा

 

Sushil Kumar Singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned