scriptMLA Preeti Singh Shaktawat said for CM Ashok gehlot could be PM after congress president | 'CM गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते तो देश का नेतृत्व करते, अध्यक्ष के बाद PM बनते' | Patrika News

'CM गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते तो देश का नेतृत्व करते, अध्यक्ष के बाद PM बनते'

locationउदयपुरPublished: Sep 30, 2022 04:09:10 pm

Submitted by:

santosh Trivedi

वल्लभनगर विधायक प्रीति शक्तावत ने कहा कि हमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया था। मंत्री शांति धारीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसे नेताओं की गलती से ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को शीर्ष नेतृत्व के सामने माफी मांगनी पड़ी।

ashok gehlot
File Photo

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
उदयपुर। वल्लभनगर विधायक प्रीति शक्तावत ने कहा कि हमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया था। मंत्री शांति धारीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसे नेताओं की गलती से ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को शीर्ष नेतृत्व के सामने माफी मांगनी पड़ी। गुरुवार को कुछ मीडियाकर्मियों से बातचीत में विधायक प्रीति ने अपने बयान को मुख्यमंत्री के पक्ष में देते हुए कहा कि उन्हें तो बैठक की जानकारी ही नहीं थी। ना ही फोन पर मुख्यमंत्री गहलोत ने वहां आने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते तो देश का नेतृत्व करते, बाद में देश के प्रधानमंत्री बनते तो और खुशी की बात होती।

एयरपोर्ट पर पता चला कि वहां जाना है:
विधायक प्रीति ने कहा कि जयपुर एयरपोर्ट पर उतरे तब पता चला कि उन्हें मंत्री शांति धारीवाल के यहां जाना है। हालांकि उन्होंने धारीवालका नाम नहीं लेते हुए इशारों में ही बात की। उस समय हमारे पास किसी का फोन आया कि सब एक साथ मंत्री शांति धारीवाल के यहां जाएंगे। वहां पहुंचने के बाद नाश्ता किया और तब पता चला कि वहां पर बैठक रखी है। इससे पहले इसकी जानकारी तक नहीं थी।

मैं नौसिखियां, मेरे राजनीतिक गुरु गहलोत:
इस्तीफा देने के सवाल के जवाब में प्रीति ने कहा कि मैं नौसिखियां विधायक हूं। इसलिए इस्तीफे पर हस्ताक्षर कर दिए होंगे। उस समय बात समझ में नहीं आई कि ऐसा कुुछ करना है या नहीं। उन्होंने सीएम गहलोत की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह उनके राजनीतिक गुरु हैं, उनके कारण है वह विधायक है और उनके विधानसभा क्षेत्र का विकास भी हो रहा है। उन्होंने कहा कि गहलोत की योजनाएं व काम देखें तो कांग्रेस राजस्थान में 2023 में चुनाव जीत रही है। सीएम का बडप्पन है, कि कुछ नेताओं की गलती के कारण कुछ नेताओं शीर्ष नेतृत्व से माफी मांगी है।

गद्दार शब्द पर लगा धक्का:
मुख्यमंत्री को बार-बार गलत शब्द से संबोधित करना गलत है। परिवार में काम को लेकर लड़ाई झगडे़ होते रहते हैं। सीएम को शर्मिंदा होना पड़ा उसका खेद है, वह परिपक्व है, राजस्थान की राजनीति में उन्होंने नाम कमाया है, कोरोना काल में उनकी योजनाएं पेंशन, चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने का निर्णय लिया। उन्होंने धारीवाल का नाम नहीं लेते हुए इशारों में कहा। उन लोगों ने जो शब्द इस्तेमाल किया है, वह गलत है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Gujarat election 2022: पीएम मोदी ने अहमदाबाद में किया 49 किलोमीटर लंबा रोड शोगुजरात चुनाव LIVE: पहले चरण में 60.29% लोगों ने डाला वोट, 788 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में सीलहनुमान चालीसा मामले में नवनीत राणा और रवि राणा की मुश्किलें बढ़ी, कोर्ट से जारी हुआ अरेस्ट वारंटएलन मस्क बना रहे हैं इंसानों के दिमाग में लगने वाली चिप, जल्द ही आप सीधे कंप्यूटर से कर पाएंगे बात!श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब का दो घंटे चला नार्को टेस्ट, कई राज खुलेRBI ने लांच किया डिजिटल रुपया, जानिए खरीदने व यूज करने के तरीकेतस्वीरेें: मंच पर ससुर शिवपाल, भाषण में बार-बार पल्लू खींचती दिखीं डिंपल यादवइंडोनेशिया में कफ सिरप से मौत का मामला, पीड़ित परिवारों ने मांगा 1.5 करोड़ रुपए हर्जाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.