उदयपुर के इस विवि ने एकाएक बढ़ा दी एग्जाम फीस, आवेदन में अब आ रही समस्या, स्टूडेंट्स हुए परेशान

उदयपुर के इस विवि ने एकाएक बढ़ा दी एग्जाम फीस, आवेदन में अब आ रही समस्या, स्टूडेंट्स हुए परेशान

Bhagwati Teli | Publish: Nov, 16 2017 04:11:06 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

सुविवि में सत्र और परीक्षा एक, लेकिन आवेदन शुल्क पहले कम, अब किया ज्यादा

उदयपुर . मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय में परीक्षा आवेदन शुल्क को लेकर एक ही सत्र में दोहरे मानक सामने आए हैं। सत्र 2017-18 की परीक्षा के लिए 600 से एक हजार रुपए बढ़ाकर वसूले जा रहे हैं, लेकिन इसी सत्र में कुछ दिन पहले इससे कम परीक्षा शुल्क लग रहा था। फीस में एकाएक इतनी बढ़ोतरी से विद्यार्थियों में रोष है। उनका कहना है कि एक ही सत्र में अलग-अलग फीस लेना गलत है। पहले आवेदन करने वालों के मुकाबले अब ज्यादा शुल्क चुकाना पड़ रहा है।


जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय में दीपावली से पूर्व ऑनलाइन आवेदन पर गत वर्ष की तरह ही परीक्षा शुल्क लग रहा था। फिर विवि ने आवेदन बंद कर दिए। दीपावली के बाद नवम्बर में पुन: ऑनलाइन आवेदन शुरू किए गए, तो उसमें प्रत्येक पाठ्यक्रम में परीक्षा शुल्क करीब 600 से एक हजार रुपए बढकऱ थी। शिकायतों पर राजस्थान पत्रिका ने पड़ताल की। सामने आया कि विश्वविद्यालय जो फीस बढ़ाई है, उसमें ई-सुविधा फॉर्म में 150 रुपए की सीधे बढ़ोतरी की गई है। पहले यह फॉर्म 100 रुपए का था। अब 250 रुपए लिए जा रहे हैं। इसी तरह परीक्षा शुल्क 1700 रुपए से बढ़ाकर 2450 रुपए कर दिया गया है। एमकॉम बिजेनस फाइनल के लिए 11 अक्टूबर को शुल्क 2166 था, जो 3 नवम्बर को बढ़ाकर 2750 रुपए कर दिया गया।

 

READ MORE: विदेश मंत्री को ट्वीट कर उदयपुर की बॉक्सर ने मांगा पासपोर्ट, हाथोंहाथ पासपोर्ट देकर दी दोगुनी खुशी


आवेदन में भी आ रही तकनीकी समस्या
विद्यार्थियों को बढ़ा शुल्क चुकाने के साथ ही आवेदन में तकनीकी समस्याओं का खमियाजा भुगतना पड़ रहा है। विद्यार्थियों को आवेदन करते समय सब्जेक्ट शो नहीं होने, गत वर्ष के रोल नम्बर एक्सेप्ट नहीं करने, आवेदन पर डुप्लीकेट और इनवेलिड फॉर्म बताने आदि समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।


पूर्व आवेदकों से लेंगे बकाया शुल्क
दीपावली से पूर्व अक्टूबर में जिन विद्यार्थियों ने आवेदन किए थे, उनसे बकाया परीक्षा शुल्क लिया जाएगा। राजभवन के आदेशों के तहत फीस बढ़ाई है। यह फेज पूरा होने के बाद बकाया राशि लेने की प्रक्रिया शुरू होगी। तकनीकी कारणों से कोई आवेदन नहीं कर पा रहा है तो उसके लिए आवेदन तिथि बढ़ाएंगे।
आर.सी. कुमावत, मुख्य परीक्षा नियंत्रक, सुविवि

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned