कर्नाटक से उदयपुर आते समय बीच राह में लापता हुए मां-बेटे का ढाई माह बाद भी सुराग नहीं, प‍र‍िजनाेें की अटकी है जान

कर्नाटक से उदयपुर आते समय बीच राह में लापता हुए मां-बेटे का ढाई माह बाद भी सुराग नहीं, प‍र‍िजनाेें की अटकी है जान

Madhulika Singh | Updated: 23 Jun 2018, 01:56:32 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

विवाहिता का पीहर कर्नाटक है, जहां से लौटते समय वह 29 मार्च को लापता हो गई।

उदयपुर . कर्नाटक से उदयपुर आते समय लापता हुई फतहपुरा निवासी विवाहिता लक्ष्मी एवं उसके बेटे तेजस का ढाई माह बाद भी कोई सुराग नहीं लग पाया है। प्रार्थी जितेन्द्र परमार ने इस संबंध में अंबामाता थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। विवाहिता का पीहर कर्नाटक है, जहां से लौटते समय वह 29 मार्च को लापता हो गई। विवाहिता के पास जो मोबाइल था, वह भी तब से बंद आ रहा है।

 

READ MORE : बाथरूम में नहाने गई थी युवती, एक घण्टे तक बाहर नहीं आने पर परिजनों ने दरवाजा धकेला, फिर बाथरूम में जो देखा उससे उड़ गए सबके होश

 

ठेकेदार ने जेइएन से की मारपीट
खेरवाड़ा. खेरवाड़ा उपखण्ड क्षेत्र में कॉलेज भवन निर्माण को लेकर शुक्रवार को भवन निर्माण ठेकेदार ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के जेईएन से मारपीट कर दी। महाविद्यालय की जमीन पर भवन निर्माण का कार्य चल रहा है। ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण करने की शिकायत मिलने पर जेईएन राजकुमार ने निर्माण कार्य को लेकर आपत्ति दर्ज कराई एवं उच्चाधिकारियों को सूचित किया। अधिशासी अभियंता ने भी निरीक्षण कर घटिया निर्माण तोड कर गुणवत्तायुक्त निर्माण करने के ठेकेदार को निर्देश दिए।
इसके बाद शुक्रवार करीब 4.30 बजे सार्वजनिक निर्माण विभाग के जेईएन राजकुमार मौके पर पहुंचे।
जहां ठेकेदार,उसके पुत्र एवं ठेकेदार के स्टाफ ने जेईएन से मारपीट शुरू कर दी। मौके से जेईएन भाग न पाए इसके लिए ठेकेदार के लोगों ने जेईएन की मोटरसाइकिल के पेट्रोल की टंकी का पाइप निकाल दिया। मौके से जैसे तैसे बचकर भागे जेईएन ने पुलिस थाना खेरवाड़ा में घटना की जानकारी दी एवं मामला दर्ज कराया। ठेकेदार ने भी क्रॉस केस दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

तीसरे दिन शव का पोस्टमार्टम

धरियावद. धोलीमगरी में बुधवार को ट्रैक्टर ट्रॉली पलटने से मृत चालक पुनिया मीणा का शुक्रवार को तीसरे दिन पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंपा गया। सीआई डूंगरसिंह चुंडावत ने बताया कि गुरुवार रातभर समझाइश एवं लम्बी चर्चा के बाद पुनिया के परिजन पोस्टमार्टम के लिए राजी हुए।
गौरतलब है कि बुधवार को धोलीमगरी में हुए हादसे में टै्रक्टर चालक पुनिया की मौत के बाद परिजनों ने मुआवजें की मांग को लेकर शव नहीं उठाने दिया, जिससे शव 25 घंटे तक घटनास्थल पर ही पड़ा रहा।

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned